Home स्वास्थ मंकीपॉक्स से बचने के लिए अपने भोजन में लें ये चीज़ें

मंकीपॉक्स से बचने के लिए अपने भोजन में लें ये चीज़ें

अभी दुनिया COVID-19 से पूरी तरह से बाहर निकली भी नहीं की  एक और बीमारी आ गई है मंकीपॉक्स | मंकीपॉक्स वायरस वैश्विक स्तर पर बढ़ता ही जा रहा है |

  हाल ही में, राजधानी में मंकीपॉक्स का पहला मामला दर्ज किया गया। इस वायरस से आप को बचना  है तो आप को अपना ध्यान रखना होगा आप को अपनी रोग प्रतिरोधक शक्ति (immunity) को बढ़ना होगा |

अगर आप की रोग प्रतिरोधक शक्ति अच्छी होगी तो आप इस बीमारी से लड़ा सकते है | इस के लिया आप को अपने भोजन को पौष्टिक बनना होगा आप को अपनी डाइट में हेल्दी खाना शामिल करना होगा |

अपनी इम्युनिटी को बढ़ने के लिया इन चीजों को अपनी डाइट में शामिल करना होगा | 

पुदीना

आप को पुदीने के पत्ते खाने चाहिए इन में  मेन्थॉल होता है जो इसके प्राथमिक यौगिकों में से एक है जो मांसपेशियों और पाचन तंत्र को आराम देने में मदद करता है।

पुदीने के पत्तों को रोज खाने से खांसी, जुकाम और अस्थमा जैसी सामान्य बीमारियों के इलाज के लिया सहायक होती है।

ताज़ा तुलसी

ताजी तुलसी में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होती है | जो आपकी इम्युनिटी को बढ़ती है |

यह सर्दी और फ्लू का इलाज करती है और साथ में ये सिरदर्द को भी शांत करती है।

तेज पत्ता

तेज पत्ते में एंटी-इंफ्लेमेटरी, जीवाणुरोधी, मूत्रवर्धक (Anti-Inflammatory, Antibacterial, Diuretic) और पाचन गुणों से भरपूर होते हैं।

उनमें यूजेनॉल नामक एक पदार्थ होता है, एक यौगिक जिसे अक्सर हल्के दर्द निवारक और एंटीसेप्टिक के रूप में उपयोग किया जाता है।

यह साबित हो चुका है कि ये पत्ते खांसी, फ्लू और अस्थमा के इलाज में अत्यधिक प्रभावी हैं। वे दस्त, गैस और मतली(Nausea) जैसी पाचन समस्याओं को भी रोकते हैं| 

ग्रीन टी

हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में ग्रीन टी बहुत अच्छी होती है | 

ये शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालती है | इसके अलावा पाचन क्रिया को भी ठिका रखती है |  रोजाना ग्रीन टी पीने से इम्यूनिटी बढ़ती है | 

शहद

आप अगर चीनी की जगह शहद का प्रयोग करें तो ये आप के लिया बहुत ही अच्छा होगा | 

शहद में भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेड़, प्रोटीन, मैग्नीशियम, कैल्शियम, फॉस्फोरस, विटामिन ए, बी, सी, आयरन, पोटैशियम, सोडियम के साथ साथ  एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-माइक्रोबायल के गुण भी पाए जाते हैं | 

यह इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के साथ-साथ कई संक्रामक बीमारियों से भी आपको बचाता है | 



ये भी पढ़े

मंकीपॉक्स : क्या होते हैं

कही आप का लीवर खराब तो नहीं हो रहा है ?

कहीं ये लक्षण आप को भी तो नहीं

मलेरिया के ये हैं इलाज, लक्षण , प्रकार और बचने के उपाय



हल्‍दी दूध

यदि रोज रात को आप  गरम दूध में एक चम्‍मच हल्दी और शहद मिलाकर पिएं तो यह हमारी शरीर को अंदर से मजबूत रखता है |

ऐसे भी हमारे आयुर्वेद विज्ञान में हल्‍दी को बहुत ही महत्‍वपूर्ण बताया गया है | हल्दी में सबसे ज्यादा एंटीबैक्टीरियल, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीफंगल तत्व मौजूद होते हैं। ये तीनों ही तत्व शरीर को कई रोगों से बचाए रखने में मदद करते हैं।

साथ ही कच्ची हल्दी में विटामिन सी, के, पोटैशियम, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, कॉपर, जिंक, फॉस्फोरस, थियामिन, राइबोफ्लेविन आदि भी मौजूद होते हैं।

इन सभी तत्वों की जरूरत शरीर के अंगों को स्वस्थ रहने, सुचारू रूप से कार्य करने के लिए होती है | हल्दी को दूध में उबालकर पीने से सर्दी-जुकाम, खांसी, इंफेक्शन आदि दूर होने के साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है | 

प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ

 

सोया, पनीर, स्प्राउट्स , दही, दूध हरी सब्जियाँ ,फल आदि जैसे प्रोटीन वाले भोजन करने से हमारी  इम्युनिटी बढ़ती है |

आप अपने भोजन में पौष्टिक तत्वों का प्रयोग करे |

मंकीपॉक्स से पीड़ित लोगों के लिए तो प्रोटीन अधिक फायदेमंद है | इसलिए प्रोटीन युक्त भोजन करे और मंकीपॉक्स जैसी बीमारयों से दूर रहे |