Home स्वास्थ लंबे समय तक बैठे रहने से आपकी सेहत पर पड़ते हैं ...

लंबे समय तक बैठे रहने से आपकी सेहत पर पड़ते हैं गंभीर दुष्‍प्रभाव

हम में से ज्‍यादातर लोग कम से कम 8 से 9 घंटे तक बैठ कर काम करते हैं और  कोरोना के बाद वर्क फ्रॉम होम हो गया है|  

घर पर हो या ऑफिस में या फिर यात्रा क्यों न कर रहे हों ?लंबे समय तक बैठने

घर पर हो या ऑफिस में या फिर यात्रा क्यों न कर रहे हों ?लंबे समय तक बैठ रहने से हमारे स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव पढ़ता हैं |

पर क्‍या आप जानते  हैं कि यह आपके लिए कितना खतरनाक हो सकता है ? इससे कितनी बीमारियाँ आप को अपनी चपेट में ले सकती है |

आइए जानते है क्या क्या नुकसान होते है लंबे समय तक बैठने के

हाई ब्लड प्रेशर ,कोलेस्ट्रॉल

लंबे समय तक बैठने से शरीर के कई अंगों को नुकसान हो सकता है।

  • हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ सकता है |
  • हाई ब्लड प्रेशर की समम्स्या हो सकती है |

हार्ट और लंग्स की बीमारी का खतरा

अगर आप ज्यादा देर तक बैठते है तो आप के शरीर में खून का बहाव कम हो सकता है |

इससे आप के  लंग्स में खून के थक्के जम सकते हैं | इस का बुरा असर आप के दिल पर पड़ता है |

जिससे आप को हार्ट प्रॉब्लम हो सकती है | 



 ये भी पढ़ें

कौन है द्रौपदी मुर्मू

सिंगल यूज प्लास्टिक पर बैन



आंतों के कैंसर का खतरा

 लंबे समय तक बैठे रहने से कोलोन यानी आंतों का कैंसर भी बढ़ता है।

यही नही आप को ब्रेस्ट और एन्डोमेट्रीअल कैंसर भी हो सकता है | 

मांसपेशियों में कमजोरी

अक्सर लंबे समय तक बैठे रहने से पीठ और पेट की मांसपेशियां (muscles)ढीली पड़ने लगती हैं।

कूल्हे और पैरों की मांसपेशियां कमजोर पड़ने लगती हैं। जिससे अंग कठोर होने लगते है और शरीर में कोमलता ख़त्म होने लगती है |

 गठिया (Osteoporosis)

 लंबे समय तक बैठेने से वजन भी बढ़ता है और इसके परिणामस्वरूप कूल्हे (hip) और इसके नीचे के अंगों की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। 

शरीर के कम एक्टिव होने के कारण ऑस्टियोपोरोसिस(osteoporosis) यानी गठिया जैसी बीमारियां आम होती जा रही हैं।

दिमाग पर असर

लंबे समय तक बैठे रहने से दिमाग पर भी बुरा असर पड़ता है |

दिमाग के काम करने की क्षमता पर असर होता है और दिमाग काफी स्लो हो जाता है। मांसपेशियों के एक्टिव होने से दिमाग में खून और ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में पहुंचती है, जिससे दिमाग में ऐसे केमिकल बनते हैं जो उसे एक्टिव बनाते हैं।

लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो यह दिमाग के लिए यह खतरनाक हो सकता है।

गर्दन व पीठ पर बुरा असर 

लम्बे समय से कंप्यूटर पर बैठने से गर्दन व पीठ पर बुरा असर  पड़ता है |

इससे रीड की हड्डी की कोमलता ख़त्म हो जाती है और उस में कठोरता आ जाती है | इस के कारण गर्दन पर दवाब पड़ता है |

जिससे पीठ और कंधो में दर्द होने लागत है | 



 ये भी पढ़ें

अंकुरित अलसी खाने के फायदे 



पाचन ग्रंथि में बदलाव

लंबे समय तक एक जैसी स्थिति में बैठे रहने से पाचक ग्रंथि अधिक सक्रिय हो जाती है और इस कारण से ज्यादा इंसुलिन पैदा होता है।

इस हार्मोन से कोशिकाओं को ग्लूकोज मिलता है, लेकिन बैठे रहने से मांसपेशियों की कोशिकाएं निष्क्रिय होती जाती हैं।

इसके चलते बॉडी में ज्यादा मात्रा में इंसुलिन बनता है और आगे जाकर मधुमेह और अन्य बीमारियां हमें घेर लेती हैं।

कैलोरी नहीं होती बर्न

बैठकर काम करने पर एक मिनट में सिर्फ एक कैलोरी बर्न होती है।

इसका मतलब है कि अगर आप एक घंटे तक बैठे रहते हैं तो आपकी 60 कैलोरी ही खर्च होगी। खड़े होने पर हर दिन 300 कैलोरी बर्न हो सकती है।

कम कैलोरी खर्च होने पर वजन बढ़ने का खतरा रहता है।

मोटापा 

बिना हिले-डुले 8 घंटे तक बैठने से शरीर के चारों ओर चर्बी जमा हो जाती है, जिससे मोटापा बढ़ता है।

लंबे समय तक बैठने और खाने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ सकता है और कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं।

साथ में ये भी जरुरी है की आप अपने शरीर की  फिजिकली एक्टिव रखे | 

इसलिए जरुरी है की आप अपने ऊपर ध्यान दे और कुछ ऐसी सही अवस्था अपने जो आप के शरीर के लिया सही हो और साथ में आप को कुछ फिजिकली एक्टिव भी करनी चाहिए जिस से आप का शरीर स्वस्थ रहा | 

  • बैठे रहने की अवस्था में आगे की और न झुककर ना बैठे | 
  • कंधो को रिलैक्स में रखे | 
  • अपने हाथो को साइड में रखे | 
  • पीठ के नीचे के हिस्से को सहारा रखे | 
  • अपने पैरो को नीचे की तरफ सीधा रखे | 
  •  2 घंटे बैठने के बाद कम से कम 15 मिनट टहलने जाएं।
  • कम से कम 60 से 75 मिनट एक्सरसाइज करें।
  • एक ही पोजीशन में ज्यादा देर तक ना बैठ 
  • हर आधे घंटे में अपने हाथो को आपस में रगड़कर अपनी आखो पर लगया