Home ज्ञान Cryptocurrency : क्रिप्टोकरेंसी क्या है और उनके प्रकार

Cryptocurrency : क्रिप्टोकरेंसी क्या है और उनके प्रकार

Cryptocurrency

क्या आप पात है की Cryptocurrency क्या है ? क्या आप इसके बारे में जानते है ? नहीं तो हम आप को Cryptocurrency के बारे में बताते है | पूरी दुनिया में बहुत तरह की मुद्रा (Currency) है,जब हम कोई भी चीज खरीदते है, तो हम उसके बदले में दूकानदार को पैसे देते है, जो की एक प्रकार की मुद्रा होती है | दुनिया के सभी देशो में अलग अलग मुद्रा (Currency) का उपयोग किया जाता है।

पर आज कल तो ऑनलाइन का टाइम है हर एक काम ऑनलाइन होता है ,और भारत में तो अब ऑनलाइन रूपये का ज्यादा होता है | पर क्या आप को पात है की एक Currency ऐसी भी है, जो की पूरी तरह से Digital Currency है। इस मुद्रा (Currency) को Cryptocurrency के नाम से जानते है। आइए जानते है की क्रिप्टोकरेंसी क्या है, और इसे कैसे खरीदते है, इस के प्रकार क्या है ?

Cryptocurrency क्या है ?

आज कल सभी चीज़ें ऑनलाइन ही हो रही हैं ऐसे में आप की इन्वेस्टमेंट भी अब ऑनलाइन ही हो चुकी है। इसका सबसे अच्छा ऑप्शन है Cryptocurrency।
Cryptocurrency आज पुरे बज़ार में अपनी जगह बना चुकी है और लगातार फैल रही है। Cryptocurrency दो शब्दों से मिलकर बना है Crypto+Currency जो की लैटिन भाषा से लिए गए हैं। Crypto एक बड़े शब्द cryptography से लिया गया है, जिसका अर्थ होता है छुपा हुआ। Currency एक शब्द currentia से लिया गया है, जो की रुपये-पैसे के संदर्भ में प्रयोग किया जाता है। अगर इसके अनुसार समझा जाये तो Cryptocurrency का मतलब होता है छुपा हुआ पैसा या डिजिटल रुपया।
साधारण शब्दों में समझा जाये तो यह डिजिटल मुद्रा है। जिसे किसी सिक्के या नोट की तरह देखा, छुआ और संभाला तो नहीं जा सकता पर हाँ उसकी वैल्यू किसी से कम भी नहीं होती।
तो चलिए समझते हैं क्रिप्टोकरेंसी के पुरे कॉन्सेप्ट को और समझने की कोशिश करते हैं कैसे करें इन्वेस्टमेंट ?

 Cryptocurrency कैसे काम करती है ?

  • किसी भी चीज़ की वैल्यू तभी होती है जब सामने वाला उसे लेने के लिए एक मूल्य देने को तैयार हो और उसकी वैल्यू तब बढ़ जाती है जब उसकी मांग ज्यादा और उत्पादन कम हो।
  • उसी तरह क्रिप्टोकरेंसी की वैल्यू भी लेन देन पर ही निर्भर करती है। यह एक ब्लॉकचैन के माध्यम से कार्य करती है।
  • आसान भाषा में जैसे ही आप एक क्रिप्टोकरेंसी को ख़रीदते या बेचते हैं तो उसकी पूरी डिटेल्स ब्लॉकचैन में रिकॉर्ड हो जाती हैं।
  • इस पूरी प्रक्रिया को कुछ लोगों द्वारा पॉवरफुल कंप्यूटर्स की मदद से किया जाता है।
  • इस प्रकिर्या को “क्रिप्टोकरेंसी की माइनिंग ” और जिनके द्वारा यह की जाती हैं उन्हें “माइनर्स “कहते हैं।

 

आखिर माइनर्स करते क्या हैं ?

क्रिप्टोकरेंसी में जब भी कोई ट्रैंजेक्शन होती है तो इसकी पूरी डिटेल्स ब्लॉकचेन में सेव कर दी जाती हैं। यानी उसे एक ब्लॉक में रख दिया जाता है, जिसे एक क्रिप्टोग्राफिक (Cryptographic) पहेली को सॉल्व कर के माइनर्स  एक Hash देते हैं। ये पहेली काफी जटिल होती है जिसे हर कोई सोल्व नहीं कर सकता।  Hash मिलने के बाद ब्लॉक सिक्योर हो जाता है, फिर उस भाग को ब्लॉकचेन में जोड़ दिया जाता है । इस तरह से वो खरीदने बेचने के लिए त्यार हो जाता है। अब आप इसे क्रिप्टो मार्किट से खरीद सकते हैं।



ये भी पढ़े

टेलीग्राम से पैसे कैसे कमाए ?

ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए

यूट्यूब चैनल कैसे बनाएं



क्रिप्टोक्यूरेंसी कैसे खरीदें ?

  • Cryptocurrency खरीदने के लिए आप को किसी एक एप्लीकेशन जैसे “वज़ीरक्स”
  • इसके लिए आप उनकी वेबसाइट / एप्लीकेशन चेक  कर सकते हैं 
  •  टर्म्स एंड कंडीशन पढ़ के उन्हें एक्सेप्ट करते हैं 
  •  KYC सबमिट कीजिये ( यह वेरेफिकेशन किसी फ्रॉड वगैरह को रोकने के लिए किया जाता है )
  • ट्रांसेक्शन के लिए आप अपने बैंक अकाउंट को क्रिप्टो अकाउंट से लिंक कर सकते हैं या सीधा अपने क्रेडिट या डेबिट कार्ड से पेमेंट कर सकते हैं
  • अब आप त्यार हैं Cryptocurrency खरीदने के लिए और पैसे कमाने के लिए 
  • अब आप को करेंसी के सिम्बल्स दिखाई देंगे तो जिस भी करेंसी को आप खरीदना चाहते हैं, उसपे क्लिक करें और उसकी प्रोफाइल चेक करें। 
  • इसके लिए आप को यहां ग्राफ दिखाई देंगे चेक करें की कॉइन सबसे नीचे कितना गया है और कितनी फ्रीक्वेंटली गया है।  

क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार

वैसे तो Cryptocurrencies के कई प्रकार हैं, पर हम बात करेंगे कुछ ऐसे Cryptocurrencies की जो मार्किट में बहुत ज्यादा अच्छा कर रहे हैं। आप चाहें तो इनमें से कोई एक खरीद सकते हैं।

Bitcoin (BTC) (बिटकॉइन )

Bitcoin (BTC) की शुरुआत 2009 में हुई थी जो शुरुआत में बस कुछ ही $ की थी पर आज इसकी कीमत है $49,815.49 तो आप समझ ही सकते हैं की अगर आप इसमें निवेश करते हैं तो कितनी जल्दी आप के पैसे बढ़ते हैं।

 

Ethereum (ETH) (एथेरेयम )

इसे Cryptocurrency का रेजिंग स्टार भी कहा जाता है। इसकी शुरुआत 2015 में हुयी थी और इसकी कीमत लगभग 90% से भी ज्यादा बढ़ गयी है।

Litecoin (LTC) 

इसे गूगल के एक्स एम्प्लोयी ने 2011 में  Bitcoin को देख कर बनाया था। इसमें बहुत से फीचर्स हैं जो बिटकॉइन के हैं पर इसके जल्दी ग्रो होने का कारण है block generation में लगने वाला टाइम।  इसमें Bitcoin के मुकाबले 4 गुना कम टाइम लगता है।

Dogecoin (Doge)

इसकी खोज Billy Markus ने की थी।  इसके नाम के पीछे की कहानी ये थी की इसके ओनर ने Bitcoin की तुलना कुत्ते से की थी और उस से बेहतर कुछ लाने की। इसके फेमस होने का कारण यह है की यह सबसे ज्यादा merchants द्वारा एक्सेप्ट किया जाता है। आप थोड़ा बहुत बिज़नेस वेबसाइट और books की हेल्प भी ले सकते हैं।