Home स्वास्थ Flu: फ्लू क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

Flu: फ्लू क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

flu

कोरोना वायरस अभी गया नहीं है और मौसम भी बदल रहा है ऐसे मौसम में फ्लू होने का खतरा ज्यादा होता है |

इस मौसम में लोगो के प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है | इसलिय जल्दी सर्दी, खांसी ,जुकाम और फ्लू हो सकता है | इस मौसम में ज्यादा बच्चे और बुर्जग बीमार होते है इसलिय उन का ज्यादा ध्यान रखना जरुरी है |

इसलिय आप को अपनी डाइट में कुछ बदलबा करने होंगे जिस से की वायरस इंफेक्शन न हो |

आइए जानते है की फ्लू क्या है और फ्लू में क्या खाना चाहिए ? 

फ्लू क्या है ( What is flu) ?

 कोल्ड और  फ्लू एक साधारण बीमारी है जो मौसम के बदलने पर ज्यादा होती है यह बॉडी के रेस्पिरेटरी सिस्टम(respiratory system) को प्रभावित करती है |

यह फेफड़ों को ज्यादा प्रभावित करता है ,फ्लू से गले में खराश, खांसी, छींक और बुखार होता है जो दो से तीन दिनों तक घटता-बढ़ता रहता है |

आमतौर पर फ्लू होने पर बॉडी में थकान और कमजोरी महसूस होती है | यह एक इंसान से दूसरे में आराम से फैलता है | 

फ्लू के लक्षण (Flu symptoms)

फ्लू के लक्षण हर व्यक्ति में अलग-अलग हो सकते है , और ये लक्षण हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकते हैं | 

  •  गले में खराश होना (Sore throat)
  • तेज बुखार आना (High Fever)
  • ठंड लगना और पसीना आना (Cold sweats and shivers)
  • पीठ, बाहों और पैरों की मांसपेशियों में दर्द होना (Body ache)
  • सिरदर्द (Headache)
  • लगातार सूखी खांसी आना (Dry, Persistent Cough)
  • थकान और कमजोरी (Extreme Tiredness)
  • बंद या बहती नाक (Stuffy or Runny nose)
  • छींक आना (Sneezing)
  • भूख में कमी
  • दस्त या पेट दर्द (stomach pain)
  • सोने में कठिनाई (Difficulty sleeping)
  • मतली (उबकाई) और उलटी
  • यदि आप को इन में से कोई लक्षण दिखे तो आप अपने डॉक्टर से परामर्श लें | 


ये भी पढ़े

मंकीपॉक्स से बचने के लिए अपने भोजन में लें ये चीज़ें

मंकीपॉक्स : क्या होते हैं और इसके लक्षण

पता लगाएं की कही आप का लीवर खराब तो नहीं है


 


फ्लू (Flu) होने का क्या कारण है ? 

यह मौसमी वायरस है जो मौसम के बदलने पर होता है | विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, सीजनल इन्फ्लूएंजा(seasonal influenza) होने के तीन सबसे मुख्य वायरस (ए, बी, और सी) हैं |

टाइप ए इन्फ्लुएंजा वायरस सबसे खतरनाक माना जाता है | यह ऐसा संक्रमण है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है यह खांसी या छींक की बूंदों में हवा के माध्यम से यात्रा करते हैं |

इसलिय जब भी मौसम बदल रहा हो तो आप को अपना ध्यानरखना होगा और सब से ज्यादा ध्यानआप को अपने बच्चो और  बुर्जगो का रखना होगा | 

फ्लू से बचाव के उपाय 

  • संक्रमण से बचने के लिए आप अपने हाथको बार बार धोये | आप सैनिटाइजर का प्रयोग करे 
  • छींक या खांसी आने पर अपने मुंह और नाक को ढक कर रखे |  
  • फ्लू में भीड़ वाली जगहों पर न जाएं |  
  • इस्तेमाल किए गए टिशु को कूड़ेदान में डालें और बाद में अच्छी तरह से अपने हाथ धो लें
  • अक्सर स्पर्श की जाने वाली सतहों जैसे कि विशेष रूप से दरवाज़े के हैंडल,हैंडरेल और नल को नियमित रूप से साफ और कीटाणुरहित करें | 
  • जो लोग सर्दी या फ्लू से ग्रस्त हैं उनके निकट जाने से बचें | 
  • पौष्टिक भोजन करे 

फ्लू के इलाज के लिए क्या करें 

आप घर पर फ्लू का इलाज कर सकते है लेकिन अगर 2 -3 दिन में ठीक न हो तो आप को  डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए |  

  • लहसुन का सेवन करे 
  • भाप लें
  • खुद को हाइड्रेटेड रखें, खूब पानी पिया | 
  • अपने हाथों को साफ रखे | 
  • विटामिन-सी से भरपूर उत्पादों का सेवन करें | 
  • आराम करें | 
  • अदरक,काली मिर्च ,तुलसी की चाय पिया ये फ्लू में बहुत मदद करती है | 
  • नारियल पानी पिएं | 
  • कच्चे फल और सब्जियों का सेवन करें | 
  •  पानी को गर्म कर के उस में  नमक डाल कर उस से अपना गरारे करें | 
  • अगर गले में दर्द हो रहा है तो दालचीनी के तेल, पुदीने के तेल आदि  से अपने गले की मालिश करें |