Home संबंध क्यों मनाते हैं फ्रेंडशिप डे, कैसे हुई इसकी शुरुआत | Friendship Day 

क्यों मनाते हैं फ्रेंडशिप डे, कैसे हुई इसकी शुरुआत | Friendship Day 

Friendship day

हमारे जीवन में माता पिता और गुरू के बाद जो आता है वो है हमार मित्र |  मित्र वो होते है जो हमारे सुख-दुख के साथी होते हैं | 

किसी भी परिस्थिति में मित्र हमेशा साथ खड़े होते है चाहिए वो दुःख हो सुख हो या कोई भी कठिन समय क्यों न हो वो हमेशा हमारे साथ होते है | कहते है दोस्ती हो तो कृष्ण और सुदामा की हो |

जिससे हमें मित्र के प्रति ईमानदारी, त्याग और सम्मान का भाव दिखाई देता है हर किसी का कोई न कोई ऐसा दोस्त होता ही है आप का भी होगा |

फ्रेंडशिप डे के मौके पर आप अपने दोस्तों को जाहिर कर सकते हैं कि आपके जीवन में उनकी क्या अहमियत है | 

आइए जानते है क्या है फ्रेंडशिप डे

Friendship Day की शुरुआत कब हुई

Friendship Day की शुरुआत परागुआ से होना बताया जाता है |  World Friendship Day पहली बार साल 1958 में Dr Ramon Artemio Bracho ने शुरू की थी |

उन्होंने Friendship Day का आइडिया को अपने दोस्तों के साथ शेयर किया. जिसके बाद दोस्तों ने वर्ल्ड मैत्री क्रूसेड (World Friendship Crusade) नाम दिया और ऐसे इसकी शुरुआत हुई पहली बार 1958 में अंतरराष्ट्रीय फ्रेंडशिप डे मनाने का प्रस्ताव पेश किया गया था | 

इसके बाद संयुक्त राष्ट्र ने 30 जुलाई को अंतरराष्ट्रीय फ्रेंडशिप डे मनाने की घोषणा की थी | पर भारत में यह अगस्त महीने के पहले रविवार को मनाया जाता है | 

फ्रेंडशिप डे मनाने के पीछे की वजह है ?

फ्रेंडशिप डे को मानने के पीछे एक दिलचस्प कहानी है | अमेरिका में 1935 में अगस्त के पहले रविवार के दिन एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई थी | 

कहा जाता है कि इस हत्या के पीछे अमेरिकी सरकार थी | जिस व्यक्ति की मौत हुई थी, उसका एक प्रिय मित्र था |  जब दोस्त की मौत की सूचना मिली तो वह बहुत हताश हो गया | 

दोस्त के जाने के गम में उस शख्स ने भी आत्महत्या कर ली | दोस्ती और लगाव को देख कर अमेरिकी सरकार ने अगस्त के पहले रविवार को फ्रेंडशिप डे के तौर पर मनाने का फैसला लिया | 

धीरे धीरे ये दिन प्रचलन में आ गया और भारत समेत अन्य कई देशों में अगस्त के पहले रविवार को मित्रता दिवस के तौर पर मनाया जाने लगा | 



ये भी पढ़े

रिलेशनशिप में एक छोटा ब्रेक जरुरी है जाने क्यों 

लव लाइफ को बेहतर कैसे बनाए



30 जुलाई से अलग कैसे है अगस्त का फ्रेंडशिप डे ?

कुछ लोगों को फ्रेंडशिप डे को लेकर कंफ्यूजन है कि 30 जुलाई और अगस्त के पहले रविवार में से सही फ्रेंडशिप डे कौन सा होता है | 

साल 1930 में जॉयस हॉल ने हॉलमार्क कार्ड ने शुरू किए था |

पर बाद में 30 जुलाई 1958 को आधिकारिक तौर पर अंतर्राष्ट्रीय मित्रता दिवस मनाने की घोषणा की गई |  लेकिन भारत समेत बांग्लादेश, मलेशिया,  और संयुक्त राज्य अमेरिका जैसे देश अगस्त के पहले रविवार को ही  फ्रेंडशिप डे मनाते हैं | 

फ्रेंडशिप डे का महत्व क्या है 

हर किसी के जीवन में कोई न कोई दोस्त जरूर होता है |  दोस्ती की न उम्र होती है ,न ही लिंग, न भाषा ,न गरीब न आमिर न  व राष्ट्रवाद दोस्ती के आगे कुछ नहीं ।

दोस्ती विश्वास, साथ  और खुशहाली का नाम है दोस्ती का महत्व बहुत जरूरी है, उतना ही इस महत्व को हर दोस्त को महसूस कराना भी है के वो हमारी लाइफ में कितना इम्पोटेंट है | इसलिए हर साल फ्रेंडशिप डे मनाया जाता है | 

आप भी अपने दोस्त के साथ ये दिन मनाये