Home खबर Hafte ki khabar (weekly wrap up 9 to 15 August )

Hafte ki khabar (weekly wrap up 9 to 15 August )

hafte ki khabar

समाज से जुड़े रहें और खबरों पे ध्यान रखें क्या जाने कौन सी खबर आप के काम आये।

तो हम वापस हाज़िर हैं Hafte ki khabar (weekly wrap up 9 to 15 August) में आप पुरे हफ्ते की खबर लिए।

पहले समझिये आप को इसे क्यों पढ़ना चाहिए :-

तो अब आप समझ ही गए होंगे की न्यूज़ जनाना कितना जरूरी है। तो चलिए शुरू करते Hafte ki khabar (weekly wrap up 9 to 15 August)हैं

पहली खबर weekly wrap up में प्रयागराज से

कोरोना में काम तो पूरा लिया।  पर जब काम की वजह से कोरोना पॉजिटिव निकले तो अलविदा कह दिया।  अब तो ना पडोसी जीने देते है ना पुलिस वाले कुछ लाने देते हैं।  आशा बहन को ऐसी ज़िंदगी जीने को कहते हैं।

ये खबर प्रयागराज से आयी है।  बस नाम ही बदला है हालत तो अभी भी वही सताये है।  आशा वर्कर के साथ ऐसा कर अब प्रशासन पछताए है।  हमारी बहादुर बहन अब भी लड़ती जाय है।

अच्छा हुआ ये “# ” वायरल हुआ नहीं तो किसे ये खबर मिल पाती और कहाँ ये खबर हमारे weekly wrap up में जगह बनाती।

एक और खबर weekly wrap up में  एयरपोर्ट से

सरकार बहुत तेज़ है पर सिर्फ कमेटी बनाने में और दोष मढ़ने में।  १० साल पहले ही बोला था एयरपोर्ट का ये राज़ पहले ही खोला था।  पर सरकार को भी तो छवि चमकानी थी। आखिर नेता जी को भी तो सरकार बचानी थी।  शायद अगले इलेक्शन ये बात जनता को समझानी थी।  वोट मांगने के लिए ये तिगड़म  चाल भी भिड़ानी थी।

हम तो इतना ही कहेंगे की सरकार चाहे आये या जाये पर जो भी काम हो पक्का हो।  सरकार द्वारा अपने काम को बस दिखाने के लिए कुछ भी ना किया  जाये अगर कोई कमेटी किसी प्रोजेक्ट को कैंसिल कर रही है तो उसे सूना जाये। अगर सुन लेती सरकार तो ये हादसा ना होता किसी के घर मातम न प्रस्ता कोई अपने के लिए यूँ ना तरस्ता।

टेबल टॉप रनवे की वजह से ये हादसा हुआ।  “TABLE TOP” यानि पहाड़ों को काट के बनाया गया ‘रनवे’ । इनमे लम्बे प्लान्स को नई लैंड करवाया जा सकता क्योंकि रनवे कम होता है। “तो सावधानी हल्की सी भी हटी तो दुर्घटना घटी” और ये बात पहले भी बोल चुके थे  ऐसा कुछ हो सकता है।

एक खबर ऐसे शहर से जो weekly wrap up में हर हाल में आना चाहता है  UP

देश को जिस बेटी पर गर्व था उसका अंत ऐसे किया जाता है। सुभिक्षा को मार कर एक्सीडेंट करार दिया  जाता है।  हमें तो कुछ कहां पता चल पाता है।  पर योगी जी आप का ध्यान क्यों यहां नहीं जाता है।

पता नहीं ऐसे ही चला तो UP कहाँ जा के थमेगा।  ऐसे मारने लग गए तो देश कैसे चलेगा ?

अब चल पड़ते हैं खिचड़ी खाने राजस्थान

जाने क्या ही पक रहा है कौन किस के साथ और कौन किस के खिलाफ लड़ रहा है।

एक महीने की कीमत और एक “महीना” कितना होता है और एक “महीने” में क्या बदल जाता है।  ये तो बस सचिन ही बता पाएंगे।  जाने कैसे इस एक महीने की कीमत अब वो चुकाएंगे।  उनके नाम के पीछे भी बदलाव आया है “पूर्व उपमुख्यंत्री ” “पूर्व अध्यक्ष” पूर्व ही रह गया बाकि सब तो उड़ गया।

कहाँ राजस्थान के शीर्ष पे थे कहाँ एक नेता बन के रह गए।  गलहोत साहब गेम बजा गए और वो सर खुजलाते  रह गए।

बस मेरा एक ही सवाल था सर वो 5 स्टार का बिल किसने दिया ?

अब एक  अच्छी खबर IPL आएगा

IPL फिर से आएगा “vivo” को इस बार हटाया जाएगा।  boycott China नई ऊंचाई पर जाएगा।  किसी भी चाइनीस ब्रांड को IPL स्पॉन्सरशिप नहीं दिया जायेगा।

फिर चाइना के फ़ोन से # चलाया जाएगा और उसी के फ़ोन से उसकी अर्थव्यवस्था को डुबोया जाएगा।

वैसे “पतंजलि” वाले बाबा रामदेव भी दौड़ में है। जो कभी कहते थे की IPL काला धन का अड्डा है।  आज वो भी त्यार खेलने को ये सट्टा है।  पता चला फिर करोनिल की तरह हमें ठगा जाएगा IPL बोल के फिर कुछ दिया जाएगा।

शायद IPL वालों ने भी बदला लिया।  IPL की स्पॉंशरशिप “पतंजलि” को नहीं दिया।

Boycott China dream vs. reality

weekly wrap up में अब 2 दिल तोड़ने वाली खबर

रैना और धोनी अब इंटरनेशनल मैच नहीं खेलनेगे।  जाने कैसे ही अब हम मैच देखेंगे।  तुम्हारे बिना कैसा वो मैदान दिखेगा सब सूना सूना सा ही लगेगा।  नहीं भाई वापस आ जाओ एक आखरी बार नीली जर्सी में एक मैच खेल जाओ।

अब Weekly wrap up में एक खबर बंगलुरु से

भीड़ के कई चेहरे नज़र आते हैं।  एक तरफ तो दूसरे धर्म के लोग मंदिर बचाते हैं।  दूसरी तरफ भीड़ में कुछ लोग आग लगा जाते हैं।

समझिये दंगाइयों का कोई मजहब नहीं होता कोई नज़रिया कोई ईमान नहीं होता।   जो भी शेयर करें ज़रा सोच कर करें ये एक आग है ज़रा देख कर खेलें।

अब weekly wrap up में थोड़ा मीडिया की तरफ

मीडिया भी नींद से जागा है। चाइना की बाढ़ कवर कर के दिखाया है।  बिहार नहीं असम नहीं चाइना ने उन्हें TRP  में ऊपर पहुंचाया है।

सुशांत के केस में तो मीडिया ने CID को पछाड़ा है।  हर एक क्राइम पेट्रोल के एपिसोड को देख सब को दोषी  ठहराया है।  कुछ घटा तो कुछ मीडिया ने पकाया है।

Whats app university से ग्रेजुएट लोगों ने भी खूब भरमाया है।  15 अगस्त को कोरोना का वैक्सीन आएगा ऐसा बतलाया।  हम भी हाथ पैर छोड़ बैठ गए और बस बैठे ही रह गए।

वैसे बता दें की पुरे वर्ल्ड में 160 वैक्सीन टट्रायल चल रहे हैं।  पर सब की उम्मीद है ऑक्सफ़ोर्ड वाली वैक्सीन पर।

कुछ लोगों ने प्रणब मुखर्जी को भी मृत बताया हद तो तब हुयी जब सोशल मीडिया में श्रद्धांजलि के पोस्ट डाले। बस इतना ही कहेंगे की जो भी करें सोच समझ के करें। एक बार बस प्रणब मुखर्जी के बारे में पढ़ें।  आप को पता चलेगा उनका व्यक्तित्व।

Weekly wrap up में देश की राजधानी से

दिल्ली का फ्री पानी सड़क पर भी नज़र आया है।  ‘MCD’ ने ‘आप’ को और “आप” ने ”MCD” को दोषी ठहराया है । करे चाहे कोई भी पर जनता ही सारा क़र्ज़ चुकाया है।

बॉलीवुड

सड़क से याद आया ना सिर्फ दिल्ली की बल्कि बॉलीवुड की सड़क पर भी पानी भर आया है।  दिल्ली में आशमा ने और बॉलीवुड में जनता ने भोकाल मचाया है।  सड़क २ के ट्रेलर को dislike करने का # ट्रेंड कराया है।  उफ़ ये # पे चलता देश

अब Weekly wrap up में दो जरूरी खबर

“हिन्दू प्रॉपर्टी एक्”

अब बेटियों को भी उनका  मिलेगा पूर्वजों की प्रॉपर्टी सब में बंटेगी।

”इनकम टैक्स”

इस नियम का  उद्देश्य यह है की करदाता और कर अधिकारियों के बीच इंटरफेस को खत्म करना। अब करदाताओं को व्यक्तिगत रूप से आयकर कार्यालय नहीं आना होगा।

अगर कोई खबर Hafte ki khabar (weekly wrap up 9 to 15 August) में रह गयी हो तो प्लीज कमेंट सेक्शन में बताएं साथ ही ये भी बताएं की आप को Hafte ki khabar (weekly wrap up 9 to 15 August) कैसा लगा.