Home यात्रा Historical Places In Delhi : दिल्ली के इन स्थानों पर जरूर जाएं...

Historical Places In Delhi : दिल्ली के इन स्थानों पर जरूर जाएं घूमने 

  Historical Places In Delhi : भारत एक ऐसा देश है जहाँ अलग अलग तरह की परंपराओं, संस्कृति और ऐतिहासिकता है | जिन लोगो तो इतिहास पसंद है उन लोगों के लिया भारत में बहुत कुछ ऐसा मिल सकता है, जो उनके दिल को उत्साहित कर सकता है | अगर उन लोगो को पूरी ,ऐतिहासिका और वास्तुकला से जुड़ी हुई जगह देखनी हो तो वो लोग दिल्ली आ कर यहां की वास्तुकला,ऐतिहासिकता और शाही नजारे को देखा सकते है | आप को दिल्ली में आ कर ये सब देखने को मिलगा | यहाँ आ कर आप को बहुत अच्छा लगेगा और आप एक ही दिन में कई सारि जगहों पर घुमा सकते हो | तो

आइए जानते है की दिल्ली में कौन कौन सी वो जगहे है जहाँ आप घूम सकते हो (Historical Places In Delhi ) 

लाल किला

       दिल्ली का लाल किला लाल बलुआ पत्थर से बना सुंदर किला है इस को मुगल सम्राट शाहजहां ने बनया था | यहां आप को वास्तुकला का एक अनोखा नजर मिलगा यहाँ पर आपको इसमें संग्राहलय देखने को मिलेगा व पारंपरिक हस्तशिल्प और सजावटी सामान, कृत्रिम गहने आदि इसके मीना बाज़ार में जगमगाते हुए मिलेंगे |

       इस में कारीगरों ने इतनी महीनता से इसका हर एक कोना उकेरा है कि आप तारीफ किए बिना रहा नहीं पाओगे ,और रात में तो आप को और भी अच्छा नजर देखने को मिलगा क्यों की रात में यहाँ पर लाईट व साउंड शो से यह और भी सुंदर लगता है | आप को पात है यह का टिकट केवल 80 रुपये का है और बच्चों का 30 रुपये का टिकट है |



ये भी पढ़े

पोलियो क्या है और इसके लक्षण क्या हैं

शरीर में दिख रहे ये 10 लक्षण बड़ी बीमारी का संकेत ! देर होने से पहले पहचानिए

मंकीपॉक्स : क्या होते हैं और इसके लक्षण



इंडिया गेट

       नई दिल्ली में  स्थित इंडिया गेट जो की राष्ट्रपति भवन की सीध में बना हुआ है | इंडिया गेट में उन शहीदों के नाम लिखे गए है जो प्रथम विश्व युद्ध में शहीद हुए थे ,यह स्मारक ब्रिटिश भारतीय सेना के 70,000 सैनिकों के लिए एक यादगार श्रद्धांजलि है, जिन्होंने प्रथम विश्व युद्ध (1914-1918) के दौरान अपने जीवन का बलिदान दिया था |

     आप दिल्ली आये तो इंडिया गेट जरूर जाए यहाँ हमेश ही अमर जवान ज्योति जलती रहती है ये अमर जवान ज्योति उन सब वीरों की दास्तान बयान करती है| यहाँ पर जा कर आप को बहुत अच्छा लगेगा क्यों की यहाँ पर हर टाइम चहल पहल रहती है ,और यहाँ का कोई भी टिकट नहीं है तो आप यहां जाये और मजा करे | 

क़ुतुब मीनार

      यह कुतुबुद्दीन ऐबक ने बनाई थी यह इमारत दिल्ली की ऊँची इमारतों में से एक है | यहाँ पर आप को ईरानी वास्तुकला का भव्य उदाहरण मिलेगा जिसको यूनेस्को विश्व विरासत स्थल में शामिल किया गया है | अगर आप दिल्ली आये हो तो आप को क़ुतुब मीनार तो जाना ही चाहिए | इसके पास में एक लौह स्तम्भ बना हुआ है जिसकी ख़ासियत यह है कि इस पर आज तक जंग नहीं लगा है | यहां पर आस पास हरियाली है और आप यहां पर पिकनिक भी कर सकते है | 

हुमायूँ का मकबरा

     इस  मकबरा को हुमायूँ की पत्नी हाजी बेगम ने बनवाया था ,यह आज भी इतना ही सुंदर है जितना उस समय रहा होगा | यह लाल पत्थर व संगमरमर के संगम से बनाया हुआ है , यह मकबरा भी मुगल वास्तुकला का प्रएक अद्भुत नजर है | यहाँ पर हुमायूँ के साथ ही मुगलों के कुछ खास सदस्यों की समाधि भी बनाई गई है | यहां पर ऊँची-ऊँची पथरीली सीढ़ियाँ, बड़े-बड़े कलात्मक दरवाज़े प्राचीनता को बखूबी से दर्शाती हैं |  

 

अक्षरधाम मंदिर

     यह विश्व के सबसे बड़े हिंदू मंदिरों में से एक है ये मंदिर आप को भौचक्का कर देगा | जब आप इस मंदिर में एक बार अंदर जायगे और यहां घूमेंगे तो आप इस के  हर एक कोन की तारीफ करते नहीं थकेंगे |  यह दिल्ली का सबसे मशहूर पर्यटन स्थल है | में आप को एक बात बोलू तो जब आप यहाँ जायगे तो आप कुछ समय के लिए बाहर की दुनिया को पूरी तरह से भूल जाऐंगे |

    क्यों की यह इतना सुन्दर है की आप बस इस में हु खो जायगे ,यह मंदिर अलग-अलग भागों में बँटा हुआ है जिसमें नौका विहार, सांस्कृतिक कार्यक्रम और शाम में समय होता वॉटर शो है | आप को ये सब बहुत ही पसंद आएगा और आप को इस में बहुत आनंद आएगा | बस आप को यहां के लिए टाइम निकलना होगा तो ही आप इस का आनंद ले पायगे | आप यहां सुबह 9:30 से शाम 6:30 तक ही जा सकते है | 

छत्तरपुर मंदिर

       अगर आप धार्मिक है तो आप को एक बार छत्तरपुर मंदिर में जरूर जाना चाहिए ,यह दक्षिणी दिल्ली में है | यहां पर एक साथ बहुत देवी देवताओ के मंदिर है | यहां पर शिव-पार्वती, राधा-कृष्ण, हनुमान, लक्ष्मी आदि भगवानों के मंदिर है | यहां जा कर आप भक्ति में खो सकते है ,यहां पर आप के मन को बहुत शांति मिलगी | यह मंदिर मुख्या रूप से देवी कात्यायनी का है | यह मंदिर 70 एकड़ में है आप इस मंदिर की वास्तुकला देखेंगे जो की बहुत ही सुंदर है | 

कमल मंदिर

दिल्ली का कमल मंदिर जो की बहाई स्थल भी कहा जाता है ,यह जगह उपासना केंद्र है जहाँ आपको एकदम शांत माहौल मिलेगा | यह एक उपासना स्थल है पर आप को यहाँ पर किसी भी भगवान की मूर्ती नहीं मिलगी क्योंकि माना जाता है कि उपासना करने के लिए किसी भी भगवान के नाम की ज़रुरत नहीं हैऔर न नहीं किसी मूर्ती की यहाँ पर हर धर्म के लोगों का स्वागत किया जाता है | यह कमल के आकर का बना हुआ है , यह कमल का फूल शांति व पवित्रता का प्रतीक है इसी को दिमाग में रखते हुए इस स्थान का निर्माण किया गया है |

 

कनॉट प्लेस

दिल्ली का कनॉट प्लेस बहुत ही बड़ा वित्तीय केंद्र है, यहां पर आप को लगभग सभी प्रकार के अंतर्राष्ट्रीय चैन स्टोर, रेस्टोरेंट, बार और शॉपिंग के सभी प्रकार की दुकाने मिल जायगी | यहां पर आप शॉपिंग कर सकते है ,यहां पर आप को खाने पीने के लिए भी बहुत अच्छी अच्छी वेरायटी मिल जाएगी | यहां पर आप अपने पार्टनर के साथ आ सकते हो आप को यह पर बहुत रोमांटिक जगह मिला जायगी | क्या आप को पात है की कनॉट प्लेस में देश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय ध्वज है | अगर आप दिल्ली आये तो कनॉट प्लेस जरूर जाये आप को यहां पर शॉपिंग करने में मजा आएगा |

वेस्ट टू वंडर पार्क

दिल्ली के वेस्ट टू वंडर पार्क में आप को दुनिया के 7 अजूबों की प्रतिकृति (replica) देखने कोमिलगी | आप को बता दे की इन जूबों को लगभग 150 टन कचरे से बनाया गया है | यह पर आप को दुनिया के सात अजूबा में ताजमहल को 20 फीट, एफिल टावर को 70 फीट, लीनिंग टॉवर ऑफ़ पीसा को 25 फीट, स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी को 35 फीट, क्राइस्ट द रिडीमर को 25 फीट, ग्रेट पिरामिड ऑफ गीजा को 18 फीट और कोलोसुइम को 15 फीट ऊंचाई के साथ सेम टू सेम बनया गए है | यह पर आप फोटोग्राफी कर सकते हैं | इसको देखने के लिए आप सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे आ सकते है | इसको देखने के लिए 50 रुपए शुल्क(charge) देना पड़ता है और बच्चों के लिए 25 रुपए देना पड़ता है |

गुरुद्वारा बंगला साहिब

गुरुद्वारा बंगला साहिब सिक्खों का एक धार्मिक स्थल है | कहा जाता है की यह देश के सबसे बड़े सिख तीर्थस्थलों में से एक है | यह पर देश-विदेश से लोग शीस झुकाने आते हैं , यह पवित्र स्थान पहले के समय में राजा जय सिंह का बंगला हुआ करता था | यह पर सिक्खों के आठवें गुरु हर किशन सिंह जी आए और यहां पर रहे , कहा जाता है की उस समय चेचक और हैजा की बीमारीया हो रही थी तो आठवें सिख गुरु ने बंगले के एक कुएं से प्राथमिक उपचार और ताजा पानी देकर लोगों की मदद की ,यह भी कहा जाता है कि गुरुद्वारे के पानी से बिमारियां दूर हो जाती हैं |

गुरु हर किशन सिंह जी भी इस बीमारी से संक्रमित हो गए थे और जिस वजह से उनकी मौत भी हो गई थी | इसके बाद ही राजा जय सिंह ने इस बंगले को सिखों के आठवें गुरु को समर्पित कर दिया |

दिल्ली में घूमने का सबसे अच्छा समय क्या है ?

आप दिल्ली में घूमने के लिए साल में कभी भी जा सकते है ,लेकिन सबसे अच्छे समय की बात करे तो आप नवंबर से ले कर मार्च तक जा सकते है क्यों की उस समय यहां पर इतनी गर्मी नहीं होती है | तो ये सयम आप के लिए अच्छा होगा |

निष्कर्ष

इस Article के ज़रिये हमने आपको यह बतया है की आप दिल्ली के किन स्थानों ( Historical Places In Delhi ) पर घूमने जा सकते है | आप को कुछ स्थानों के बारे में बतया है | तो आप जब भी दिल्ली जाए तो इन स्थानों पर जरूर जाए |
मैं आशा करती हूँ कि आपको मेरा यह Article पसंद आया होगा | यदि यह Article आपको Helpful लगा हो तो आप इस आर्टिकल को शेयर जरूर कीजिये | इसके अलावा यदि आपको कोई बात समझ न आयी हो तो आप नीचे Comment भी कर सकते हो