Home ज्ञान How To Reduce Study Stress In Hindi

How To Reduce Study Stress In Hindi

How To Reduce Study Stress In Hindi

एक तो काम की टेंशन फिर ज़िंदगी की टेंशन और अब आयी एक नयी टेंशन।  बच्चों के एग्जाम की टेंशन।  ऐसे में बहुत जरूरत हैं जानने की how to reduce study stress।

study stress ना सिर्फ बच्चों बल्कि अभिवावकों को भी होता है। मेरे घर से भी मेरी छोटी बहन लक्ष्मी  का बॉर्ड का exam है।

यकीन मानिये मुझे भी उसके रिजल्ट और फ्यूचर की उतनी ही चिंता है जितनी उसे।  पर ऐसे में हमारा फ़र्ज़ बनता है की अपने बच्चों को मोटीवेट करें, पंप अप करें सपोर्ट करें ।

ऐसे में जरूरी ये है की कोई बताये बच्चों को “study stress management” या फिर “how to reduce study stress in Hindi” ।

यह भी पढ़ें

Depression ka kaam tmaam

Apna dhyan kese rkhen

Hard work aur smart work

तो पहले समझते हैं study stress ke lakshan

Study stress ke lakshan

– दोस्तों से या किसी से दुरी होना
– खाने पीने में मन नहीं लगना
– नींद आना या नींद बिल्कुल भी ना आना
– बेचैनी
– गुस्सा ज्यादा करना
– पढ़ा हुआ भूल जाना
– पढ़ाई में मन नहीं लगना
– हर वक्त थका हुआ फील करना
– डर लगना
– दिल तेज़ी से धड़कना
– फोकस में कमी
– असहाय फील करना
– कन्फ्यूज्ड
– नेगेटिव थॉट

हो सकता है ये सभी लक्षण हो या इनमे से कुछ हों ।

अब हो सकता है किसी में Study stress ke ये lakshan नार्मल भी हो सकते हैं पर कोशिश करें ऐसे समय पे अपने बच्चों से बात करें।  उन्हें समझें।

क्या आप को पता है study stress ke Reason

Study Stress ke Reason और बचाव

परीक्षा :-

बच्चों को बस इस शब्द से ही डर लग जाता है। कारण सीधा सा है किसी पेपर में पास या फेल होने पे ही आप की काबिलियत का फैसला किया जाता है।

अच्छे नंबर वाला अच्छा और खराब नंबर वाला खराब।  तो बच्चे डर जाते हैं।  ये सोच के की रिजल्ट कैसा आएगा।

पर आप का रिजल्ट आप का भविष्या नहीं तय करता भविष्य तय करती है आप की मेहनत।

यकीन मानिये सिर्फ collage में ही नंबर पूछे जाते हैं उसके बाद ये नंबर कोई नहीं पूछता या देखता।

अन्तः परीक्षा शब्द से ना डरें बस अपना बेस्ट दें।

उम्मीदें :-

घर वालों की ज्यादा उमीदें भी कभी कभी बच्चों में तनाव पैदा कर देता है।

ऐसे में जरूरी है की अपने बच्चों को सपने पुरे करने दें आपके नहीं उनके।  उन्हें हल्का सा गाइड करें पर उन्हें वो ही बन ने दें जिसमें उनकी रूचि हो।

Geeta for positive life

सब्जेक्ट :-

कभी कभी बच्चों को कुछ सब्जेक्ट मुश्किल लगते हैं तो वो उन से बचने की कोशिश करते हैं।  ऐसे में आप उनकी हेल्प करें।

नोट्स बनाने में हेल्प करें।  अगर आप ऐसा करने में अशक्षम हैं तो किसी और की मदद लें।

बच्चे अपने टीचर से भी सवाल पूछ सकते हैं।

त्यारी 

जैसे जैसे पेपर पास आते हैं बच्चों को त्यारी कम लगने लगती है।  उन्हें लगता है की उन्होंने अभी कुछ नहीं पढ़ा।

ऐसे में बच्चों की मदद करें। अगर आपने कम पढ़ा है तो

– हमेशा टेस्ट पेपर ही सॉल्व करें और उनसे पढ़ें क्योंकि यहां आप को सारे एक्सपेक्टेड सवालों के जवाब मिल जाते हैं।

– बुक को दो तीन पार्ट में बाँट लें लेवल 1 , 2 ,3 ऐसे में पहले इजी वाले को खत्म कर लें फिर थोड़ा मुश्किल और अंत में सबसे मुश्किल।

– ये वो तरीका है जो में फॉलो करता था जब मेरे पास समय कम होता था बुक को हमेशा लास्ट से शुरू करो।  फायदा आप को पहले कुछ chapter बिना पढ़े ही आ जायेंगे।

Competition

कभी कभी बच्चे अपने पढ़े से ज्यादा दूसरों के पढ़े हुए से डर जाते हैं।  उन्हें लगता है की बाकियों ने बहुत ही ज्यादा पढ़ लिया है या फिर वो competition को दिल से लगा के चिंता में डूब जाते हैं।

ऐसे में बच्चों को समझाएं की competition के लिए नहीं बल्कि समझ के लिए पढ़ें।

अब ये तो हो गयी बातें Study stress ke lakshan और study stress ke Reason के ऊपर अब बात करते हैं how to reduce study stress in Hindi।

How to reduce study stress

विश्वास 

आप अपने पर पूरा विश्वास रखें।  आप कर सकते हैं और जितना आपने पढ़ा है उतना बहुत है।

पढ़ना शुरू करें 

ऐसा ना हो की आप बस सोचते ही रह जाएँ की कहाँ से क्या करें।  आप थोड़ा थोड़ा पढ़ना शुरू करें।  पढ़ने के टिप्स हमने ऊपर दिए हैं।

प्लान करके पढ़ें

कुछ भी उठा के काम ना करें।  हमेशा अपने दिन को और अपने काम को प्लान करें।  टाइम टेबल बना लें।

Quality over quantity पे ध्यान दें।  ज्यादा काम ना लें

प्लान कैसे करें

Time Par Kam Kaise Kare (Goal achieve krne ke 5 upay)

ब्रेक लें 

लगातार कुछ भी काम करने से आप का काम में मन नहीं लगता है , आप थके हुआ महशुश करने लगते हैं।  अन्तः आप बीच बीच में 10 मिनट का रेस्ट ले लें।

व्यायाम /  मैडिटेशन या योग करें 

जब आप एक्सरसाइज करते हैं या योगा करते हैं तो आप का स्ट्रेस कम हो जाता है।  साथ ही आप का ध्यान बढ़ जाता है।

खाने पीने का ध्यान दें

कभी भी कुछ भी ना खा लें।  कोशिश करें आप घर का बना हुआ अच्छा खाएं सेहतमंद खाएं।  कोशिश करें फ़ास्ट फ़ूड अवॉइड करने का।

नींद का ध्यान रखें

अपनी बॉडी और माइंड को रिपेयर होने का समय दें।  कोशिश करें की आप 6 से 8 घंटे की नींद लें।

परिवार और दोस्तों से बात करें 

थोड़ा समय अपने घर वालों वा दोस्तों के साथ भी बिताएं।  जब आप बात करते हैं तो आप के दिमाग का स्ट्रेस लेवल कम होने लगता है।

साथ ही यदि कोई समस्या हो तो भी उनके साथ साझी करें यकीन मानिये आप को हर समस्या का समाधान मिलेगा।

डायरी

आप एक डायरी भी ले सकते हैं ताकि आप अपनी डे बय डे की एक्टिविटीज को ट्रैक कर सकें।

Revise

हमेशा जो भी दिन भर पढ़ा है उसे रात को दोहराएं।  फिर एक सप्ताह बाद वापस दोहराएं फिर एक महीने बाद।  फिर हर महीने शामे प्रैक्टिस फॉलो करें।

अगर आप ये सभी तरिके (how to reduce study stress in hindi ) कर रहे हैं तब भी डर लग रहा है तो आप experts की भी हेल्प ले सकते हैं।

Study stress management के लिए हेल्प

Kids Helpline

ये 24 X 7 हेल्पलाइन सर्विस है।  यहां आप को मिलेगा हर एक समस्या का समाधान वो भी फ्री में।

Phone 1800 551 800 (24 hours, 7 days).
Email Kids Helpline at counsellor@kidshelpline.com.au.
Chat with someone one-on-one (24 hours, 7 days).

Lifeline

अगर आप स्ट्रेस में हैं समझ नहीं आ रहा है क्या करना है तो आप Lifeline में कॉल करें।

Phone 13 11 14 (24 hours, 7 days).

For more 

Corona se bachen 

आप की हर समस्या का समाधान है इनके पास।

उम्मीद करता हूँ how to reduce study stress in hindi में आप समझ गए होंगे की कैसे करें exam stress se kaise bache.

बाकि आप ये अपने आस पास के बच्चों को जरूर दें।  अगर ऐसा कोई बच्चा है जो परेशान है तो आप टीम स्वामी को भी कांटेक्ट कर सकते हैं या बच्चे को ऊपर दिए नंबर पे कॉल करने को कहें।

बच्चों का सपोर्ट सिस्टम बनें  how to reduce study stress in hindi को आगे भी बाँटें। बाकी बेस्ट ऑफ़ लक फॉर योर exams और लक्ष्मी आराम से पढ़ना बस मैथ्स ही नहीं होता और भी सब्जेक्ट्स हैं।