Home स्वास्थ ज्यादा उम्मीदें पालना सेहत के लिए हो सकता है खतरनाक बन सकता...

ज्यादा उम्मीदें पालना सेहत के लिए हो सकता है खतरनाक बन सकता है Burnout Syndrome का कारण

Burnout-syndrome

घर से काम करते करते आप की पगार बढ़ी हो  या ना बढ़ी हो पर एक बीमारी है, जिसका खतरा बहुत बढ़ गया है “बर्नआउट सिंड्रोम (Job burnout syndrome)” |

तो आज हम बात करेंगे की बर्नआउट सिंड्रोम  क्या है (What Is Burnout syndrome) ?

ये भी पढ़ें
डिप्रेशन से कैसे बचें 
घर पर बनाए गजक के फायदे
कैंसर का इलाज
कबीर के दोहे

बर्नआउट सिंड्रोम  क्या है (What Is  JobBurnout syndrome) ?

यह एक ऐसी अवस्था जिसमें व्यक्ति हमेशा थका हुआ महसूस करता है।  

थकावट ना सिर्फ शारीरक बल्कि मानसिक ओर भावनात्मक भी 

इसके परिणाम स्वरूप व्यक्ति की ना सिर्फ कार्य करने की बल्कि सोचने समझने की क्षमता में भी गिरावट आ जाती है। 

नतीज़ा ये होता है व्यक्ति किसी भी काम पे फोकस नहीं कर पाता 

जिसके चलते धीरे धीरे व्यक्ति की रूचि खत्म होने लगती है और वो खुद को असहाय महसूस करने लगता है। 

ऐसे में आप समझ सकते हैं कि क्या हो, अगर कोई इस बीमारी से लम्बे समय तक जूझे तो 

पर सोचने वाली बात यह भी है कि आखिर बर्नाउट सिंडॉर्म क्यों होता है (Burnout syndrome ke karan)

बर्नाउट सिंडॉर्म क्यों होता है (Burnout syndrome ke karan) ?


करियर : कभी कभी जो काम करते हैं उसमें हमें या तो कोई रुचि नहीं होती या समय के साथ हम उस काम को करके थक जाते हैं । 

फिर या तो हमें हमारे द्वारा लिए गए निर्णयों पे पछतावा होता है या फिर हम ये सोच के रह जाते हैं कि ऑप्शन्स ही क्या थे । ऐसे में हम तनाव की स्थति में रहते हैं और नतीज़न ऐसी किसी बीमारी की चपेट में आ जाते हैं 

परिणाम : हमें लगता है हम हमारा बेस्ट कर रहे है पर नतीज़ा हमारे पक्ष में नहीं आ रहा है ।

 माहौल :- ऑफिस पॉलिटिक्स की वजह से आप इस समस्या से गुज़र सकते हैं।  

वर्कलोड :- काम का अधिक बोझ भी आप को ये बीमारी दे सकता है। 

वर्क लाइफ बैलेंस :- निजी जिंदगी , दोस्तों को समय नहीं दे पाने की वजह से भी आप बर्नआउट सिंड्रोम का शिकार हो सकते हैं। 

मन ना लगना :- एक ही प्रकार के कार्य करते करते हम बोर हो जाते हैं ये भी burnout symptoms ka ek karn बन सकता है।

गलतियां :- कभी कभी हम अपने ऑफिस में थोड़ी बहुत गलतियां कर देते हैं और इसकी वजह से टेंशन में आ जाते हैं की अब क्या होगा कैसे होगा

बर्नआउट के लक्षण (Burnout syndrome ke Symptoms)

– थका हुआ महसूस करना
– खराब इम्यून सिस्टम
– लम्बे समय तक सिरदर्द और कमर दर्द रहना
– भूख मर जाना या बहुत कम भूक लगना
– नींद में कमी आना
– सेल्फ कॉन्फिडेंस कम होना
– गहरी उदासी
– ऑफिस जाने से डर लगना
– असंतुष्टि

बर्नआउट सिंड्रोम से कैसे बचें (Burnout syndrome se kese bachen )

– खुद को समय दें
– दोस्तों से बातें करें
– किताबें पढ़ें
– रोज़ाना एक्सरसाइज करें
– ऑफिस पॉलिटिक्स के बारे में ज्यादा ना सोचें
– अपना बेस्ट दें बाकी छोड़ दें
– पॉजिटिव रहें और अच्छा सोचें
– जब मन खराब हो तो थोड़ा रेस्ट करें
– नियमित समय अंतराल पे लीव्स लेते रहें
– सभी को अच्छे से ट्रीट करें 

उम्मीद करता हूँ आप समझ गए होंगे की Burnout syndrome kya hai ? साथ ही इस से कैसे बचें।