Home स्वास्थ Malayalam actress Ambika Rao passes away due to Heart Attack | Kya...

Malayalam actress Ambika Rao passes away due to Heart Attack | Kya hai Heart Attack ka ilaj lakshan

Amita – Kya hai Heart Attack ka ilaj lakshan

मलयालम एक्ट्रेस अंबिका राव (Ambika Rao) का निधन हो गया है | 27 जून सोमवार को उन्होंने अंतिम सांस ली।

सोमवार की सुबह उन्हे दिल का दौरा पड़ा जिसके बाद उन्हें एर्नाकुलम के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया।

लेकिन बड़ी दुःखद खबर है की वो अपनी जिंदगी की जंग हार गईं और रात में साढे 10 के करीब उनका निधन हो गया।

बता दें की Heart Attack एक गंभीर बीमारी है जिसकी वजह से हर साल करोड़ों लोग मरते हैं।

ऐसे में जरूरी है की आप जागरूक रहें की क्या है हार्ट अटैक उसके लक्षण और इलाज (Kya hai Heart Attack ka ilaj lakshan)



ये भी पढ़े

डिप्रेशन का काम तमाम

अपना ध्यान कैसे रखें (Top-10-Beauty-tips)



क्या आप को पता है ? kya aap ko ptaa hai ?

हमारा दिल एक दिन में 1 लाख बार धड़कता है।

हमारा दिल छाती के बाईं ओर होता है, जो कि 24 घंटों में पूरे शरीर में 5000 गैलन रक्त पंप करता है।

हृदय का मुख्य कार्य हमारे टिश्यू को ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की आपूर्ति करना है।

अगर यह अंग अपने काम को पूरा करने में विफल रहता है, तो इसका परिणाम जीवन के लिए खतरा भी साबित हो सकता है।

अब सवाल है की हार्ट अटैक क्या है (Kya hai Heart Attack )

हार्ट अटैक क्या है (Kya hai Heart Attack ) ?

हार्ट अटैक एक ऐसी सिचुएशन होती है जिसमें हमारे हृदय में खून की सप्लाई अचानक बंद हो जाती है। ऐसा धमनी (artery)  में ब्लॉकेज के कारण होता है।

इससे हृदय की मांसपेशियों(Muscles) की कोशिकाएं मर जाती हैं।

धमनी में ब्लॉकेज यानी की रुकावट अक्सर प्लाक के जमा होने के कारण होती है। जिसके परिणामस्वरूप कोरोनरी हार्ट डीजिज (सीएचडी) होती हैं।

अगर इस स्थिति को बिना उपचार के छोड़ दिया जाए तो यह किसी भी व्यक्ति के लिए घातक साबित हो सकता है।

मायोकार्डियल इंफ्रेक्शन या दिल के दौरे के कारण दिल के टिश्यू को होने वाले नुकसान की गंभीरता अटैक की अवधि (अटैक कितनी देर के लिए आया है) पर निर्भर करती है।

अगर आप पहले ही इस स्थिति का निदान कर लेते हैं और उपाचर प्राप्त कर लेते हैं तो आपको कम नुकसान होता है।

इसके लिए बहुत जरूरी है की आप को पता हों की हार्ट अटैक के लक्षण क्या हैं (Heart attack symptoms / Lakshan )

हार्ट अटैक के लक्षण क्या हैं (Heart attack symptoms / Lakshan )

  • बहुत ज्यादा ठंडा पसीना आना
  • हर समय थका थका रहना है
  • साँस लेने में परेशानी
  • चक्कर आना
  • बाएँ हाथ में दर्द रहना
  • उल्टी और कमज़ोरी महसूस करना
  • अपच
  • सीने में जलन
  • दिल की धड़कन का बढ़ना या कम होना

लंबे समय तक खांसी और जुकाम रहना

ध्यान दें

हर व्यक्ति में हार्ट अटैक के लक्षण अलग हो सकते हैं।

कुछ लोगों में हार्ट अटैक के समय काफ़ी तेज़ दर्द होता है।

तो वहीं कुछ लोगों को हार्ट अटैक के समय कम दर्द होता है।

कुछ लोगों को हार्ट अटैक बिना किसी चेतावनी के आता है तो वहीं कुछ लोगों को हार्ट अटैक से पूर्व कुछ लक्षण देखने को मिल जाते हैं।

कुछ लोगों में कुछ घंटे, कुछ दिन या कुछ हफ़्ते पहले से ही हार्ट अटैक के लक्षण दिखाई देते हैं और कुछ लोगों को ये लक्षण दिखाई ही नहीं देते।

इसलिए डॉक्टर के पास जाने से अच्छा हार्ट अटैक के कारण (heart attack causes/ karan )जानें और अपना लाइफस्टाइल में changes लाएं ताकि ऐसी सिचुएशन ही ना आये


ये भी पढ़े

शरीर में दिख रहे ये 10 लक्षण तो हो जाए सावधान


हार्ट अटैक के कारण (heart attack causes / karan )

हार्ट अटैक का प्रमुख कारण ब्लड क्लॉटिंग है जिसके कारण नसों में खून जम जाता है। इसके लिए निम्न कारण हैं

अधिक उम्र

अधिक उम्र में हार्ट अटैक का खतरा बड़ा जाता है | जैसे जैसे उम्र बढ़ती जाती है वैसे वैसे हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

ऐसा माना जाता है की 45 साल की उम्र से अधिक पुरुषों में और 55 साल की उम्र से अधिक की महिलाओं में दिल का दौरा पड़ने की संभावना ज्यादा होती है।

तनाव

जो लोग हमेशा तनाव में रहते हैं, या मानसिक रुप से परेशान रहते हैं उन्हे भी दिल का दौरा पड़ने का खतरा ज्यादा रहता है।

तनाव आपके ब्लडप्रेशर को बढ़ाने का काम करता है यह काफी हद तक हृदय को नुकसान पहुंचाता है।

धूम्रपान या शराब

आजकल लोग नशे के काफी आदि होते जा रहे है । युवा पीढ़ी में तो धूम्रपान व शराब का काफी चलन हो गया है।

जिस वजह से वो कम उम्र में ही कई सारी बीमारियों के शिकार हो जाते हैं।

एक रिपोट के अनुसार जो लोग तंबाकू,शराब और सिगरेट जैसे नशीले पदार्थ का सेवन अधिक करते हैं उनमें हार्ट संबंधित बीमारियां होने का खतरा कई गुना बढ़ जाता है।

इतना ही नहीं सिगरेट पीने वाले लोगों के द्वारा छोड़े गए धुएं से भी हार्ट अटैक का खतरा रहता हैं।

मोटापा

मोटापा ना केवल हार्ट अटैक बल्कि और भी हज़ारों बीमारियों का कारण बनता है। किसी भी व्यक्ति के शरीर में फैट या वसा की मात्रा संतुलित होनी चाहिए।

वैसे तो वसा शरीर के लिए ज़रुरी है क्योंकि ये हमें काम करने के लिए ऊर्जा देता है।

लेकिन जब ये अधिक मात्रा में हो जाती है तो नसों के किनारों पर जम जाती है, जिसकी वजह से नसें ब्लॉक होने लगती हैं और रक्त का प्रवाह रुक जाता है।

अनुवांशिकता

अगर आपके परिवार में पहले से किसी को हार्ट संबंधित बीमारी है या कभी दिल का दौरा पड़ा है तो अगली पीढ़ी को भी ये खतरा हो सकता है।

लेकिन बता दें कि हरेक व्यक्ति इस समस्या का शिकार हो ऐसा ज़रुरी नहीं है लेकिन काफी मामलों में अनुवांशिक कारणों से हार्ट संबंधित समस्या हो जाती है।



ये भी पढ़े

अपना वजन कैसे कम करें?

मलेरिया के इलाज, लक्षण , प्रकार और बचने के उपाय



हार्ट अटैक का इलाज (heart attack treatment / ilaj )

अगर किसी व्यक्ति को हार्ट अटैक के लक्षण महसूस हो तो उसे तुरंत घर बाकी लोगों को बताना चाहिए।

इस स्थिति में किसी भी तरह के घरेलू उपाय नही करने चाहिये बल्कि जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए या अस्पताल जाना चाहिए।

आप इसका इलाज तो घर पर नहीं कर सकते हैं पर हाँ कुछ अच्छी आदतों को अपना कर आप इसकी संभावना कम जरूर कर सकते हैं ।

– अपने भोजन में अच्छी चीज़ों को शामिल करें। भोजन को संतुलित रखें।
– ज़्यादा कैलोरीयुक्त भोजन न करें। फ़ास्ट फ़ूड या बाहर का खाना खाने से बचें।
– एक्सरसाइज करते रहें व फ़िटनेस पर ध्यान दे।
– शरीर पर अतिरिक्त वसा को जमने ना दें। इसके लिए आप रनिंग स्विमिंग आदि कर सकते हैं
– ट्राई करें स्ट्रेस ना लें और नकारात्मक विचारों को स्वयं से दूर रखें।
– यदि आपको किसी प्रकार का डिप्रेशन या तनाव है तो उससे छुटकारा पाने की कोशिश करें। तुरंत किसी से बात करें

आप को अपनी सेहत का ध्यान रखना चाहिये | हर व्यक्ति को जीवन एक ही बार मिलता है और इसलिए यह ज़रूरी है कि आप इस जीवन की कद्र करे ।

इस लेख से संबंधित किसी भी प्रकार के सवाल या सुझाव को आप कॉमेंट बॉक्स में लिखकर हमसे शेयर कर सकते हैं।

हम आशा करते हैं कि आज के अपने इस लेख में ( Kya hai Heart Attack ka ilaj lakshan) हमने हार्ट अटैक से संबंधित जो बातें बतायी हैं वे आपके लिए काफ़ी उपयोगी साबित होगी।