Home स्वास्थ ब्रिटेन में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट से पहली मौत दर्ज | Kya...

ब्रिटेन में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट से पहली मौत दर्ज | Kya hai Omicron ke lakshan

Omicron ke lakshan kya hain | Omicron Kya hai 

Covid के नए वैरिएंट ओमीक्रॉन से पहली मौत सामने आयी है। U.K  से आयी पहली मौत की खबर। यहां अभी तक ये पता नहीं लग पाया है की क्या उन्होंने वेक्सिनेशन कराया था या नहीं। 

ऐसे में ये तो अभी नहीं कहा जा सकता की वेक्सिनेशन ओमीक्रॉन से बचा सकती है या नहीं।  पर जहां तक WHO का कहना है की ओमीक्रॉन अभी तक का सबसे खरतनाक वरिएन्ट है। 

ऐसे में इस से बचने के दो ही तरिके हैं 

– अगर आप पूरी सावधनी बरतें तो आप इस बीमारी से बच सकते हैं।
– अगर आप बीमारी के प्रति जागरूक हैं तो भी आप इस बीमारी से बच सकते हैं।

पढ़ें  :- तुलसी के पत्ते खाने के फायदे

तो क्या है ओमीक्रॉन  Omicron kya hai ?

Omicron Covid का नया वेरिएंट है, जिसका पहला केस दक्षिण अफ्रिका में मिला था । 

चिंता का विषय यह है की इसके बारे में अभी किसी को  जानकारी है।  यही  वजह है की इसका खौफ लोगों में बना हुआ है।

ओमिक्रॉन (Omicron) वैरिएंट में अब तक 30 से ज्यादा म्यूटेशन हुए हैं। 

जिसका सीधा सीधा मतलब बनता है की यह पहले वायरस (अल्फा ) से बहुत ही ज्यादा अलग है। 

इसमें इतने सारे और ऐसे – ऐसे बदलाव हुए हैं जिनकी कल्पना भी नहीं की गई थी। 

जो कोरोना की पहले वैरिएंट्स थे वो म्यूटेशन के बाद अपनी बाहरी कंटीली प्रोटीन परत (स्पाइक प्रोटीन ) में बदलाव करते थे। 

इसी पैटर्न का खोज करके दुनियाभर में वैक्सीन बनी थी जो इस स्पाइक प्रोटीन को कमज़ोर कर रही थी। 

इस वेरिएंट में चिंता इस बात की है की यह वैरिएंट अपनी ऊपरी कंटीली परत को ही कमजोर, ताकतवर या खत्म कर देता है जिस से स्पाइक प्रोटीन पर हमला नहीं किया जा सकता। 

ऐसे में ये कहना अभी ठीक नहीं होगा की वैक्सीन इस पे काम करेंगी या नहीं। 

पढ़ें :-  अगर माँ बच्चे को लम्बें समय तक दूध पिलाये तो बच सकते हैं बब्रैस्ट कैंसर से जाने कैसे ?

ओमिक्रॉन के क्या हैं लक्षण omicron ke lakshan kya hain ?

अब तक मिले मरीज़ों के आधार पर इतना तो तय है की ओमीक्रॉन के लक्षण बाकि सभी से अलग हैं।  ऐसे में सभी का एक ही सवाल है “omicron ke lakshan kya hain “

– बहुत ज्यादा थकान
–  सरदर्द कभी कभी यह बहुत ही तेज़ भी महशुश हो सकता है
– बदन दर्द
– गले की  खराश
– बिना बलगम खांसी
– कमजोरी सा फील करना
– सांस लेने में तकलीफ

अभी तक किसी भी मरीज़ में स्वाद और गंध की क्षमता वाले लक्षण नहीं आये हैं। 

अब क्योंकि लक्षण अलग हैं तो ऐसे में एक सवाल यह भी बनता है की क्या RTPCR  से ओमीक्रॉन टेस्ट होता है (kya rt pcr se omicron ka test hota hai) ?

पढ़ें : पीरियड्स में अपने पार्टनर के लिए करें कुछ ऐसा

क्या RTPCR  से ओमीक्रॉन टेस्ट होता है (kya rt pcr se omicron ka test hota hai) ?

ऐसा कहा जा रहा है की रैपिड टेस्ट Omicron की जाँच करने में असफल हैं।  

ऐसे में RTPCR की जांच के दौरान सैंपलस  के तीन जीन्स यानी S, N और E पर बहुत ज्यादा फोकस किया जा रहा है।  

चिंता का विषय यह है की ओमिक्रॉन (Omicron) के म्यूटेशन की वजह से RTPCR किट में S Gene का पता नहीं लग पा रहा है। 

ऐसे में कुछ अन्य टेस्टों की और भी देखा जा रहा है।  ऐसे में जीनोम सिक्वेंसिंग भी एक जरिया है जिस से इसकी पुष्टि की जा सकेगी।  

साथ ही RTPCR टेस्ट किट में भी कुछ बदलाव किये  जायेंगे। 

Omicron se kin logon ko hai jyada khtra hai ?

– अगर आप की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है।
– अगर किसी ने हाल ही में ऑर्गन ट्रांसप्लांट कराया है तो।
– कोई कैंसर से लड़ रहा है तो।
– डाइबिटीज़ के मरीज़।
– अगर आप मास्क के घूम रहे हैं तो
– अगर आप भीड़ में घूम रहे हैं तो 

इस से बचने का भी वो ही तरीका है जो की हम पहले से फॉलो कर रहे हैं। उम्मीद करता हूँ Omicron ke lakshan kya hain और Omicron Kya hai आप समझ गए होंगे। किसी भी अन्य सुझाव के लिए कमेंट सेक्शन में बताएं