Home संबंध Love marriage ya arrange Marriage

Love marriage ya arrange Marriage

arrange marriage ya love marriage

Love Marriage ya Arrange Marriage ये आज की दुनिया का बहुत सीरियस Question है। ये वो Question है जिसका जवाब मुझे Google और YouTube नहीं दे पाए । ढूंढा बहुत पर जो जवाब आया उसने मेरी जिज्ञासा और बढ़ा दी। फिर कुछ किताबें काम आयी कुछ दोस्त काम आये।

तो यहां हम कोशिश करते हैं समझने की क्या बेहतर है Love Marriage ya Arrange Marriage साथ ही ये भी जानेंगे की Marriage करें भी या नहीं।  आप लोग कमेंट सेक्शन में बताएं  की आप कौन सी तरफ हैं Love Marriage ya Arrange Marriage या  No Marriage.

अब सवाल ये है की शादी है क्या ?

परिवार के लिए :- Shadi  एक ऐसा function है जों दो परिवारों को जोड़ देता है।  उनके बच्चे की ज़िंदगी को नया मोड़ देता है।  जो हो गयी Shadi तो settle है बच्चा।  किसी को नहीं पता कहाँ से लाएगा खर्चा।  पर क्योंकि करनी है तो करनी है।

समाज के लिए :- दो बातें बोलने का मौक़ा है।  जो  Love Marriage है तो आपके Against, जो Arrange Marriage है तो आपके खाने और बाकि इंतज़ाम के Against। आपकी Shadi नहीं हुयी यानी  No Marriage के केस में आप के चरित्र के ऊपर।  कुल मिला के वो बोलेंगे ही।

वो तो रिस्तेदार हैं आप को एक तराजू में तोलेंगे ही।

अपने लिए  :- एक नए जीवन की शुरुआत एक नए उतार चढ़ाव की शुरुआत।  अपने साथ किसी और की भी ज़िंदगी संभालने का दबाव।

तो कुल मिला के क्या समझे चाहे Love Marriage हो  या  Arrange Marriage ।अंत में सब आप को ही भोगना है तो जो भी हो आप को ही झेलना है ।

Love marriage ya arrange Marriage  future आप का ही खराब या ठीक होगा।  तो  decision भी आप ही लो और comment section में जा के उढेलो।

love marraige yaa arrange marriage
शादी का मतलब होना क्या चाहिए ? दो लोग अपने सुख दुःख एक दूसरे के नाम करते हैं। मेरा तेरा का भाव हटा के हमारा का भाव लाते हैं।  इबादत में खुद से पहले साथी के लिए मांग जाते हैं।  एक दूसरे की ताकत बन के उभरते हैं।  दुनिया चाहे जो भी कहे एक दूसरे के लिए लड़ते हैं। ये एक पवित्र रिश्ता है जो दो शरीरों को एक जान में बदलता है।

तो चलिए हम comapre करते हैं Love Marriage और Arrange Marriage को :-

Arrange Marriage :- जब आप के रिश्ते से सब खुश होते हैं क्यंकि वो ढूंढा ही लोगों द्वारा जाता है।  अच्छा इसमें भी अब नया दौर आ गया है लोग ऑनलाइन ही ढून्ढ लेते हैं।

वो ऑनलाइन वाले चल जाते हैं, क्योंकि वहाँ कास्ट same होती है। तो Arrange marriage जब समाज के दो बराबर के तबके हाथ मिलाते हैंऔर दो परिवार साथ आ जाते हैं।  आपका अपने परिवार में कद बढ़ जाता है क्योंकि आप के शरीफ होने का सबूत मिल जाता है।

Love Marriage :- जब सब का पता नहीं पर आप खुश हो जाते हैं। आप के घर वाले और समाज वाले खिलाफ हो जाते हैं।  कभी कभी घर से निकाल दिया जाता है।  कहीं- कहीं परिवार का  साथ भी मिल जाता है।  आप के ऊपर pressure बढ़ जाता है। आप का decision सही था ये बात साबित करने में समय निकल जाता है।

No Marriage:–  इसे अगल लोग अलग तरह से परिभाषित करते हैं। पहले मैं बाकियों का बताऊंगा फीर अपना।  तो कुछ लोगों के लिए ये ‘कमजोरी’ है , कुछ लोगों के लिए ये ‘आत्म कंट्रोल’ है और ‘मानशिक विजय’ है।  कुछ लोगों के लिए ये उनके ”प्यार के प्रति क़ुरबानी” है।

हमारे लिए ये बस आप की इच्छा है ।  बाकि हम बता दें की 45 साल जब तक आप के बॉडी के हार्मोन हाई होते हैं । तब तक तो ये निर्णय बहुत अच्छा हो सकता है। पर उसके बाद जब शरीर साथ छोड़ देता है । तब कहीं  न कहीं आप इसका महत्व समझने लगते हैं।  हाँ हम एक टॉपिक में बताने की कोशिश करेंगे  shadi kiye binaa khush kese rhen ।

चलिए अब Arrange Marriage और Love Marriage का फर्क समझने की कोशिश करते हैं।
जान पहचान और पारिवारिक झगड़ा :-

अगर आप भविष्या की देखें तो ”arrange marriage” में आप को सामने वाले के बारे में ज्यादा कुछ पता नहीं होता क्योंकि घर वाले उसे ढूंढ के लाते हैं।  ज्यादा से ज्यादा आप ने online देखा होगा तो जितना पढ़ा होगा उतने पे ही भरोसा कर सकते हैं।  ”Love  Marriage” में आप एक दूसरे को बहुत अच्छे से जानते हैं तो ये आप के भविष्या को थोड़ा आसान बनाता है।

Arrange Marriage  में आप का एक साल एक दूसरे को समझने में निकल जाता है।  तब तक आप के घर एक लल्ला आ जाता है।  फिर लल्ला को संभालने में ज़िंदगी निकल जाती है ।  आप का घर नॉर्मल रहता है । मतलब वो ही सास बहु के झगड़े और ताने पर, आप सीना चौड़ा कर के घूम सकते हो की आप की देन है जिसे में भी झेल रहा हूँ।

Love Marriage  में आप पहले से ही जानते हो तो एक दूसरे को समझे समझाये होते हैं।  हाँ पर आप बचते बचाते फिरते हैं  क्योंकि कहीं भी झगड़ा होता है तो आप की गर्दन पकड़ ली जाती है।

उम्मीदें :-

Love Marriage में उम्मीदें बहुत ज्यादा होती हैं क्योंकि आप एक दूसरे को बहुत अच्छे से जानते हैं।  जो की Arrange marriage में कम होती हैं।  जैसा हमें पहले भी बताया था की Arrange marriage में एक दूसरे को समझने में समय लगता है”, तो उम्मीदें भी थोड़ी थोड़ी कर के बढ़ती हैं। जब तक उम्मीदें बढ़ती हैं तब तक आप के घर में एक नयी उम्मीद आने वाली होती है।

काम को समझना ( Understand nature of work you are doing) :-

Love Marriage आप अक्सर उन से करते हो जिनके साथ आप काम करते हो या जिन्हें आप बहुत अच्छे से जानते हो।  तो ऐसे में आप को उनका ”work culture” पता होता है । ये कहीं ना कहीं आप की मैरिड लाइफ में प्लस पॉइंट बन कर आता है।  वहीं  Arrange marriage में क्योंकि आप एक दूसरे से अनजान होते हो तो कभी कभी झड़गे सिर्फ ऑफिस को बातों को ले कर हो जाते हैं।

समन्वय (Adjustments ) :-

शादी के बाद आप को हमेशा “Adjustments” करने  होते  है Love marriage ya Arrange Marriage दोनों ही case में।  पर जहां  ”Love marriage ” में  ये कम होता है वहीं ”Arrange Marriage ” में ये ज्यादा होता है।  आप को सामने वाले का विश्वास जीतने में ही समय लग जाता है।

समाज :-

पहले “समाज” का मतलब समझते है ।अगर आप को कुछ चाहिए या घर में कोई function या दुःख तकलीफ हो उसमें जो लोग मदद करने आते है वो ”समाज कहलाते” हैं।  इसलिए अगर आप समाज के बाहर जा के शादी करते हैं, तो कभी-कभी मुशीबत के समय आप की कोई मदद नहीं करता है। आप  खुद को अकेला पाते हो।  जवानी में शायद ये आप को समझ ना आये पर बुढ़ापे में समाज की जरूरत पड़ सकती है।

तलाक के chances:-

Love marriage ya arrange Marriage दोनों में तलाक हो सकते हैं । अगर रिपोर्ट देखें तो  Love marriage में इसके चांस ज्यादा रहते हैं।  कारण ये है की जब तक आप प्रेमी रहते हैं तब तक उतनी जिम्मेदारी नहीं होती। पर विवाह के बाद जिम्मेदारी बढ़ जाती है।  कभी कभी ये ज़िम्मेदारी तनाव लाती है और आप लड़ पड़ते हैं।  पहले और अब की situation को compare करते हैं।  ये तलाक तक भी बात चली जाती है।

conclusion:- तो अंत में इतना ही की चाहे Love marriage हो ya arrange Marriage आप एक ऐसा साथी ढूंढिए जो आप को समझे। क्योंकि दोस्त के साथ रहना ज्यादा आसान होता है एक मास्टर के साथ रहने से। वैसे हमारा समाज arrange Marriage पर अटका है। पर अगर आपका प्यार सच्चा है love है लस्ट नहीं तो लड़ पड़िये जमाने से। बाकि प्यार में डाउट है तो पहले उसे दूर करें तब जाके सदी करें।

उम्मीद करते हैं ये पॉइंट्स से क्लियर हो गया होगा की क्या करें Love marriage ya Arrange Marriage अगर कुछ रह गया हो तो निचे कमेंट कर सकते हैं।  हमें फेसबुक पे ढूंढ सकते हैं और हमारी बाकि स्टोरीज भी पढ़ सकते हैं।