Home संबंध Periods kyu hote hai |कैसे रखें पीरियड्स में अपने साथी का ख्याल...

Periods kyu hote hai |कैसे रखें पीरियड्स में अपने साथी का ख्याल |10 Things everyone should know about girls periods

Periods kyu hote hai कैसे रखें पीरियड्स में अपने साथी का ख्याल 10 Things everyone should know about girls periods

आपने हमने स्कूल में पढ़ा तो है की Periods kya hote hai और Periods kyu hote hai ? पर आज हम समझेंगे की कैसे रखें पीरियड्स में अपने साथी का ख्याल।

तो कोशिश करते हैं एक एक कर के समझने की

Periods kya hote hai ?

Periods जिसे मासिक धर्म माहवारी या menstruation भी बोलते हैं ।हर एक लड़की हर महीने इस से दो चार होती ही होती है।

जब लड़की यौवनावस्था की और बढ़ती है तो उसके पीरियड्स शुरू होते हैं।

पीरियड्स आमतौर पर 11 से 14 वर्ष की आयु में शुरू हो जाते हैं। पीरियड्स शुरू होना एक तरह से निशानी होती है की अब लड़की गर्भवती हो सकती है।

Periods के दौरान लड़की का शरीर गर्भ धारण के लिए त्यार हो जाता है। पर जब गर्भ धारण नहीं होता तो गर्भाशय अनफर्टिलाइज्ड अंडों और गर्भाशय के टिश्यू (lining of the uterus) को योनि से रक्तस्त्राव के जरिए बाहर निकालने लगता है।

यह प्रकिया चलती रहती है इस लिए जब लड़की को पीरियड्स नहीं आते तो उसका मतलब होता है की वह गर्भवती हो सकती है ।

इस लिए आपने टीवी में एड्स देखे होंगे पीरियड्स मिस होने पे पता करें की आप प्रेगनेंट हैं या नहीं।

पीरियड्स में निकलने आने रक्त में आधा खून और आधा टिश्यू होते हैं।

एक बार पीरियड्स में लड़की के शरीर से 30-40 मिली लीटर खून बाहर निकलता है।

यह प्रकिर्या एक महिला के साथ हर महीने 3 से 5 दिन चलती है।

Periods kyu hote hai?

जैसा की हमने ऊपर भी बताया पीरियड्स के दौरान लड़की का शरीर गर्भधारण के लिए त्यार होता है। पीरियड्स के दौरान अंडाशयों से एक अंडा बनाया जाता है और इसे गर्भाशय नाल में भेज दिया जाता है। इस प्रक्रिया को ovulation कहा जाता है।

इस प्रक्रिया के दौरान ही शरीर दो हार्मोन्स भी बनाना शुरू करता है एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टरोन।

ये दोनों हॉर्मोन्स गर्भाशय की परत को मोटा करते है ताकि गर्भ धारण होने की स्थति में फर्टिलाइज़्ड अंडा उस परत से लग कर पोषण पा सके।

यह परत खून और म्यूकस से मिल कर बनी होती है।

पर जब नर शुक्राणु नहीं मिलते तो शरीर इन सब को बाहर निकाल देता है खून के रूप में।

Period Problem

अब समझ गए हैं की Periods kyu और kya hote hai? अब समझते हैं की Period में क्या-क्या Problems लड़की को आती हैं।

Dysmenorrhea in Hindi (Menstrual pain )

पीरियड्स के दौरान जो सबसे बड़ी समस्या आती है वो है पीरियड के दौरान होने वाले दर्द का। ये दर्द दो तरीके के होते हैं।

a ) प्राइमरी डिसमेनोरिया

यह कोई रोग नहीं है आमतौर पर पीरियड्स के दौरान लड़कियों को यह दर्द होता है। ये दो से तीन दिन बाद ठीक हो जाता है। गर्भाशय के सिकुड़ने के कारण पेट में ऐंठन आ जाती है जिस कारण यह दर्द होता है। दर्द पेट के निचले हिस्से में होता है।

b ) सेकेंडरी डिसमेनोरिया

यह फाइब्रॉयड्स, पेल्विक इंफ्लेमेटरी डिज़ीज या एंडोमेट्रिओसिस जैसी बिमारियों से होता है। मुख्यतः यह 20 वर्ष की आयु के बाद ही होता है। इस केस में आप को तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क कर लेना चाहिए।

How to reduce menstrual pain या Dysmenorrhea in hindi

– गुनगुने पानी की बोतल पास रखें दर्द होने पर पीठ के निचले हिस्से या पेट पेट पर इसे रख लें
– पीठ और पेट की हल्के हाथों से मालिश करें
– गर्म पानी से नहाएं
– पूरी नींद लें
– स्मोकिंग को कहें ना

Irregular Periods 

यदि पीरियड रेगुलर समय पे हो रहे हैं तो कोई समयस्या नहीं है। यदि एक आद दिन आगे पीछे या एक आद बार आगे पीछे हो तो भी समस्या नहीं है। समस्या तब है जब यह कुछ समय बीच में हो ही ना। साईकल कभी भी पूरी ना करें 35 दिन या उस से अधिक समय लगे।

Irregular Periods Treatment

– हार्मोन थेरेपी
– वजन घटाना
– खाने पीने में ध्यान देना

Heavy Bleeding

पीरियड्स में ब्लीडिंग तो होता ही है पर अगर यह लगातार हो और बहुत ज्यादा मात्रा में हो तो समस्या है। यह लड़कियों में इतनी ज्यादा हो सकती है की उन्हें अपना पैड हर घंटे बदलना पड़ सकता है।

यह आगे चल कर काफी गंभीर समस्या बन सकती है। अन्तः अगर आप को यह समस्या एक से ज्यादा बार आती है तो प्लीज जल्द ही डॉक्टर को मिलें।

इसके इलाज के लिए आप इसे विजिट कर सकते हैं |

अब जब हम समझ गए हैं Periods kyu hote hai और Periods में होने वाली Problem भी अब बात करते हैं आप कैसे रख सकते हैं अपने पार्टनर का या अपना खुद का ख्याल।

Ten Things everyone should know about girls periods

Health issues ;- पीरियड के दौरान क्या- क्या हेल्थ इश्यूज आते हैं हम ऊपर समझ चुके हैं। अन्तः अपने पार्टनर, दोस्त का दर्द समझें और उस हिसाब से अपनी दिनचर्या प्लान करें।

मसाज :- आप अपने पार्टनर को एक अच्छी सी मसाज दे सकते हो। अगर ऐसा ना कर पाओ तो हॉट बोतल से सिकाई कर सकते हो।

ध्यान :- इस दौरान लड़कियों का शरीर कमज़ोर पड़ जाता है अन्तः आप उनके खाने पीने का ध्यान रख सकते हो। पीरियड्स के दौरान लड़कियों को एक डर दाग का भी होता है। कहीं बेड पे या कपड़ों पे दाग ना लग जाये।

इस लिए आप उनके लिए एक फ्री फ्री सा माहौल बना सकते हैं।

चॉकलेट :- क्या आप को पता है पीरियड्स में एक लड़की को चॉकलेट की बहुत ज्यादा लत लगती है। अगर आप उसे एक चॉकलेट दें तो आप का पूरा दिन बन सकता है।

रेस्ट :- इस दौरान लड़कियों का शरीर थोड़ा कमज़ोर पड़ जाता है तो कोशिश करें उनका हाथ बंटाने की। ज्यादा से ज्यादा कोशिश करें की आप का पार्टनर रेस्ट करे।

गुस्सा :- इस समय लड़की वैसे ही दर्द में होती है साथ ही हार्मोनल चैंजेस की वजह से मूड स्विंग्स भी रहते हैं। तो ऐसे में आप समझ जाइये की आप को कहीं कहीं उनके गुस्से से दो चार होना पड़ सकता है।

तो सयंम रखें।

घूमने :- आप अपने पार्टनर का मूड ठीक करने और दर्द से हल्का सा माइंड डाइवर्ट करने के लिए उन्हें घुमाने ले जा सकते हो। अगर आप शॉपिंग पे ले गए तो सोने पे सुहागा।

जबरदस्ती :- इस दौरान अपने पार्टनर को समझें कुछ भी उन पर थोपें नहीं। आराम से बातें करें।

Divorce in India

हग :- जादू की झपि क्या होती है मुन्ना भाई बत्ता ही गए हैं। पर इस समय आप अपने पार्टनर को थोड़ी देर के लिए होल्ड कीजिये और एक हग दीजिये। उनका ध्यान रखिये।

अहमियत ;- इस दौरान अपने पार्टनर को पंप उप करते रहें। उन्हें बताएं की वो कितने जरूरी हैं आप के लिए। थोड़ा क्वालिटी ऑफ़ टाइम साथ बिताइए।

shadi ke golden rules

तो ये थे Ten Things everyone should know about girls periods।

बाकी आप इनमें से कितने जानते थे हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं।

FAQ

Period Laane Ki Medicine

आप Primolut N का प्रयोग कर सकते हैं। इसको मोस्टली डॉक्टर पीरियड्स को टाइम पे लाने के लिए या फिर जल्दी लाने के लिए प्रयोग करते हैं।

तो अगली बार अगर कोई पूछे की Period जल्दी Laane Ki Medicine कौन सी है तो उसकी मदद करें।

पर ध्यान रहे इसके कुछ साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते हैं तो एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Period Kitne Din Bad Aata Hai

यह 21 से 40 दिन के बीच आ सकते हैं।

Period Ki Last Age Kya Hai

मेनोपॉज आमतौर पर 50 साल के बाद होता है। लेकिन इससे 8 से 10 साल पहले ही शरीर पीरियड खत्म होने करने के लिए खुद को तैयार करने लगता है

जब Period खत्म होते हैं तो उसे मेनोपॉज कहते हैं। यह 50 साल की उम्र के बाद होता है। पर महिलाओं का शरीर इसके लिए खुद को 40 साल से शुरू करने लगता है।

ये भी पढ़ें

best shopping tips
Dadhi Kaise Badhaye
How to Increase Breast Size in Hindi

उम्मीद करते हैं Periods kyu hote hai ? कैसे रखें पीरियड्स में अपने साथी का ख्याल ? 10 Things everyone should know about girls periods आप को पसंद आया हो बाकि अपने सवाल/सुझाव हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं।