Home ज्ञान 10 टिप्स भविष्य को आसान बनाने के लिए केस स्टडीज...

10 टिप्स भविष्य को आसान बनाने के लिए केस स्टडीज के साथ Planning kese kren_10 niyam

Planning kese kren svamee

 

जीवन एक संघर्ष है। इसमें सब को लड़ना है और सब को जीतना भी है, पर जीतता तो वो ही है जो इसे पूरी तरह से Plan कर के रखता है । अगर Planning kese kren हमें आ गया तो हम न सिर्फ अपने जीवन को अपितु अपने परिवार के जीवन को भी एक नई दिशा देते है। A P J Abdul Kalam इसके सब से बड़े उदाहरण हैं। कैसे एक गरीब घर में जन्म ले के भी उन्होंने अपने सारे सपने पुरे किये और देश का नाम रोशन किया। यहां से एक बात तो साफ है की अगर आप सुन्योजित (planned) तरिके से चलते हो तो अपना , अपने परिवार का और देश का नाम भी रोशन करते हो। Sachin Tendulkar जिन्होंने बचपन में ही अपने लिए रास्ता चुन लिया था और प्लानिंग कर के उसे पाया भी।
          “They planned and they get now it’s our turn”

तो चलिए हम बताते हैं Planning kese kren 10 niyam के साथ, ऐसे सारे तरीके जिस से आप बेहतरीन plan कर सकते है (केस स्टडीज के साथ)।

अगर आप planning kese kren के ये  10 niyam जान लेते हैं तो आप विजेता बन के निकलेंगे , फिर चाहे दिन की दिनचर्या हो या करियर की समस्या हो पैसों की बात हो या ओफ्फिस के हालत हो। मैं हर एक में उदाहरण एक ही रखूंगा ताकि आप सभी पॉइंट्स को आपस में जोड़ सकें और उद्देश्य को समझ सकें की planning kese kren।

 बस पहले आँख बंद करें और ये सुनें जब भी मन उदास हो हतास हो ये सुनें एक बार :


1) लक्ष्य को समझें (Understand The Goal) :- अपने लक्ष्य को समझें। समझें जाना कहाँ हैं। समझें की क्या करना है, फिर चाहे वो दिन का रूटीन हो या लाइफ लॉन्ग planning हो। खुद से सवाल पूछें। पहले समझ लें की करना क्या है। यह भी अनुमान लगा लें की जो आप करने जा रहे हैं वो सही है भी या नहीं, क्योंकि अगर ये अंत में पता चला की जिस के लिए इतनी मेहनत की है वो बेकार है तो व्यर्थ में आप का समय नष्ट हो जायेगा। planning का एक महत्वपूर्ण भाग यह भी है की आप का टाइम बच जाता हैं और व्यर्थ में आप यहां वहां न घूम के अपने मुकाम पे पहुंच जाते हो। भावनाओं में बह कर ऐसा प्लान न बनाये जो कभी पूरा ही नहीं किया जा सकता।
 

उदाहरण के लिए अगर मुझे पता है में किताब नई लिख सकता पर में लिखा हुआ बहुत अच्छे से बोल सकता हूँ तो में ब्लॉग नहीं यूट्यूब चैनल खोलूंगा।

2) लक्ष्य को टुकड़ों में बांटें (Divide the goals into sub-parts) :- लक्ष्य बड़ा या छोटा हो सकता है और आप उसे एक ही बार में नहीं प्राप्त कर सकते। अगर लक्ष्य को कुछ घंटो में ही प्राप्त कर लें तो वो लक्ष्य नही होगा वो लक्ष्य तक जाने की एक कड़ी होगी।

एक एक कर के सीढ़ि चढ़ते जाएँ। बिलकुल ऊपर न देखने वरना अपना लक्ष्य दूर लगेगा एक एक कदम रखें और आगे बढ़ें।

उदाहरण के लिए मुझे यूटुब पर बड़ा नाम करना है तो महज एक हज़ार अनुमोदनकर्ता (subscriber ) पा के में मेरे लक्ष्य को नहीं पाउँगा क्योंकि मुझे तो करोड़ो subscriber चाहिए। एक हज़ार subscriber मेरी तीसरी सीढ़ि होगी। – में कंटेंट सोचूंगा -में चैनल बनाऊंगा – फिर मेरे subscriber आएंगे और वहां से फिर आगे की सीढ़ी।

3) प्राथमिकता को समझें (understand the priority) :- उप भागों (sub parts) को क्रमबद्ध करें ताकि जो काम जरूरी है वो पहले हो। अगर आपने ऐसा नही किया तो आप को अंतिम परिणाम नही मिलेगा, मिलेगी तो बस मायूसी।

उदाहरण :- यूट्यूब पे बड़ा नाम करने के लिए मेरी लिस्ट कुछ ऐसी होनी चाहिए – कंटेंट ,स्क्रिप्ट, कैमरा, कंप्यूटर। अगर हमारे पास कंटेंट नही है और हम कंप्यूटर लाते हैं तो वो हमें रिजल्ट नहीं दे पायेगा। अन्तः समझें विचार करें क्या जरूरी है इस समय।

4) अपने साधनों की सूची बनाइये ( know your resources) : उन सभी चीजों को समझिये जो आप के पास हैं उनका उपयोग समझें। आप के उद्देश्यों के आधार पर ही संसाधन के प्रकार निर्भर करेंगे।

उदाहरण :- यूट्यूब के लिए कैमरा मोबाइल का भी चल सकता है और आप हज़ारों का खर्चा कर के भी कैमरा खरीद सकते हैं पर समझिये आप के पास क्या उतने साधन हैं अगर साधन सीमित हे तो सस्ते से सस्ते से सुरु करें और महंगे से महंगे तक पहुंचने।

5) समय रखें (Time boundation ) :- हमेशा खुद को चुनौती दें। हमेशा एक निर्धारित समय सीमा रखें ,जब तक आप को वो उप भाग (sub -part ) पूरा करना है। हमेशा समय के पबन्ध रहें। समय हमेशा ऐसा रखें जिसमे वो काम हो जाये ऐसा ना हो की समय कम पड़ जाये और दूसरा काम ना हो पाए या फिर ऐसा भी ना हो की समय ज्यादा रख दिया समय बर्बाद हो रहा है बहुत ज्यादा।

उदाहरण :- अपने चैनल के लिए हर चीज़ सोच लें की कब क्या करना है जैसे सोमवार मंगलवार लिखना , बुद्धवार गुरुवार वीडियो रिकॉर्डिंग शुक्रवार शनिवार एडिटिंग और इतवार वीडियो अपलोड।

6) मदद मांगे (Ask for help) :- अगर आप को लगता है कि आप अकेले नही कर पाएंगे तो मदद मांगने में संकोच न करें।

उदाहरण :- अगर आप को एडिटिंग नहीं आती तो अपने उस दोस्त से मदद मांगे जिसे ये काम आता हो।

7) नए समाधान ढूंढें ( Be innovative ) :- हर काम को करने से पहले उसे करने क सभी विकल्प ढूंढ लें और प्रयास करें कुछ नए तरिके से करने का। अगर हर कोई एक जैसा ही करेगा तो आप भीड़ में अलग नहीं दिख पाओगे तो प्रयास करें काम को नए ढंग से करने का कुछ नया लाने का।

उदाहरण :- अगर सब एक जैसी वीडियो बना रहे हैं और आप का कंटेंट अलग है तो आप का चैनल बहुत जल्दी ग्रो करेगा।

8) आलस ना करें (Don’t be lazy ) :- काम आरंभ किया है तो उसे पूरा करें। बाद में करता हूँ ,कल करता हूँ , अभी बहुत टाइम है ऐसा ना करें। get set go को फॉलो करें। काम लिया आरंभ किया और समाप्त किया।

अगर स्क्रिप्ट लिखनी है तो सोचें ऐसा ना हो की आईडिया लेने के चक्र में आप दूसरी यूट्यूब वीडियोस देख रहे हों।

9) एकचित रहें (Be Focus ) :- जब काम को sub-ग्रुप में बाँट रखा है तो एक समय में बस एक ही काम करें। इधर उधर का और काम ना लें वरना दोनो ही पायेंगे।

अगर वीडियो एडिटिंग कर रहे हो तो पूरा ध्यान वहीं रखें।

10 ) इनाम दें (Reward your self ) ;- अब जब आप इतना कुछ कर लेंगे तो विजय आप की ही होगी। जब विजय हो जाये तो खुद को सबाशी दें। बस ऐसे ही लगे रहें और विजय आप की ही होगी.

Case 1 इन पॉइंट्स को स्टूडेंट कैसे इस्तेमाल करें मुझे फर्स्ट क्लास लाना है (Plan ) मुझे पढ़ना पड़ेगा मैं टाइम टेबल बनाऊंगा (sub -group ) सब्जेक्ट जहां ज्यादा काम करना है पहचानूंगा (priority ) टाइम सेट करूंगा की कब तक एक सब्जेक्ट खत्म करना है (time boundatin ) , रोज़ पढूंगा (Don’t be lazy) कभी कभी इमरजेंसी भी आ सकती है तो मैं कुछ नया कर के उसका समाधान निकाल लूंगा (Be innovative ) अगर में कुछ नई कर पा रहा हूँ तो दोस्तों से मदद मांग लूंगा।

Case 2 अब आप इन सभी पॉइंट्स को घर के काम में समझिए सफाई करना है , खाना बनाना है , नहाना है कपड़े धोने हैं अगर आप ऐसे ही कुछ बी उठा लोगे तो आप का पूरा दिन निकल जायेगा पर अगर आप इन्हे कर्मबध तरिके और प्लान बना के करोगे तो आप का टाइम तथा मेहनत दोनों बचेंगे।

पॉइंट्स कैसे लगे कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं ताकि हमें सही अनुमान मिल जाये साथ ही ये भी बताएं की Planning kese kren 10 niyam जो आप को बताये हैं आप को कौन सा अच्छा लगा। 

#palnning # future # future planning #best way to eliminate the risk #आसान #भविष्य