Home स्वास्थ पोलियो क्या है और इसके लक्षण क्या हैं ? | Polio Kya...

पोलियो क्या है और इसके लक्षण क्या हैं ? | Polio Kya Hai aur iske lakshan kya hain

पोलियो क्या है और इसके लक्षण क्या हैं ?( Polio Kya Hai aur iske lakshan kya hain ?) क्यों इसे इतनी ज्यादा गंभीरता से लिया जाता है ?

जानेंगे सब 

पोलियो क्या है ( Polio Kya Hai ) ?

पोलियो एक भयानक वा काफी पुरानी  बीमारी है जिस से लगभग विश्व का हर देश  जुझा वा लड़ा है । 

वैसे तो इसके इंजेक्शन /टिक्के आ चुके हैं और ये धीरे धीरे अंत की कगार पर है। 

पर आज भी लोगों को इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, लोगों को इसके लक्षण का पता ही नहीं होता है

लोगों को लगता है की इसके लक्षण बस हाथ पाँव पे ही दीखते हैं वा लकवा जैसे सिम्पटम्स दीखते हैं। 

पर अगर आप डाटा की मानें  तो 100  में से 1 व्यक्ति को  ही  लकवा /पक्षाघात(paralysis) हो सकता है जो की अस्थायी या स्थायी हो सकता है।  

अगर समय पे इसका इलाज ना किया जाये व्यक्ति को जीवन भर भुक्तना पड़ सकता है।

इस से बचने का सबसे आसान तरीका है जानकारी क्योंकि जानकारी है तो जीवन बेहतर है।  

ध्यान रहे अगर एक बार किसी को पोलियो हो जाये तो ठीक होने की संभावना ना के बराबर ही होती है

ऐसे में जरूरी है की जागरूक बनें आपने  बच्चो को  पोलियो का टिक्का लगवाना ना भूलें। 

क्योंकि एक भूल चटवा सकती है हॉस्पिटल की धुल 

पोलियो एक संक्रामक रोग है जो पोलियो नामक विषाणु से फैलती है और मुख्‍यतः छोटे बच्‍चों (0-5 साल ) को अपनी चपेट में लेती है। 

इसका मुख्य कारण होता है उनका कमज़ोर इम्यून सिस्टम।  

पोलियो शरीर के किसी एक अंग को कमज़ोर करना शुरू कर देता है जो की उम्र भर रहता है। ध्यान रहे पोलियो को बस रोका ही जा सकता है उसका इलाज नहीं है।  

तो इलाज से बचाव बेहतर 


कैंसर से बचें
क्या आप को नारियल पानी के ये नुकशान पता हैं ?


पोलियो के कारण (What are The Causes of Polio in Hindi / Poliyo ke karn)

पोलियो  दूषितपानी, भोजन और गंदगी में रहने से होता है।

साथ ही अगर आप को इसके टिक्के नहीं लगे हैं और आप संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आते हैं तो ये आप को अपनी चपेट में ले सकता है।   

यह वायरस एक बार व्यक्ति में प्रवेश करने के बाद, आँतों और गले की कोशिकाओं को संक्रमित करना शुरू करता है। 

अंत में यह  वायरस रक्त में चला जाता है जहां से पूरा शरीर में फैलने लगता है।

मुख्यतः पोलियो के ये ही कारण होते हैं पर और भी (What are The Causes of Polio in Hindi / Poliyo ke karn) कई कारण हैं जिनकी वजह व्यक्ति संक्रमित हो सकता है।

इस लिए अगर आप को पोलियो के निम्न लक्षण दिखाई दें तो हो जाएँ सतर्क  

पोलियो के लक्षण ( Polio lakshan / Symptoms )

तेज़ बुखार (38℃ या 100.4F )
गले में ख़राश रहना
सिरदर्द
पेट दर्द / मरोड़े आना
मांशपेशियों में दर्द
उबकाई और उलटी
बेचैनी

अगर ये लक्षण लम्बे समय तक रहे तो ये पोलियो की निशानी हो सकती है इसलिए (Polio lakshan / Symptoms ) डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

 पोलियो के प्रकार क्या हैं? (Polio ke type /Types of Polio)

पोलियो को तीन श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है: (3 type ke Polio /three Types of Polio)

एबोर्टिव पोलियोमाइलाइटिस :

यह पोलियो का सबसे हल्का रूपा है | ज्यादातर यह छोटे बच्चो में देखा जाता है |

यह रोग मस्तिष्क तंत्र (brain) या केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (Central nervous syste)  को प्रभावित करता है| 

नॉन पैरालिटिक पोलियो (Non Paralytic Polio Polio Kya Hai) :

यह  गंभीर होते हैं नॉन पैरालिटिक पोलियों में व्यक्ति के गर्दन और पीठ में ऐंठन होती  है, जिसके कारण व्यक्ति लकवाग्रस्त (Paralyzed) भी हो सकता है |

इसमें रीढ़ की हड्डी और मस्तिष्क दोनों में लकवा हो सकता है | शुरुआत में  इसके लक्षण आने में समय लगता है परंतु यह धीरेधीरे गंभीर हो जाती है |  

 पैरालिटिक पोलियोमाइलाइटिस:  

इस में मसपीसियो में दर्द,गर्दन और पीठ में ऐठन व कठोरत आती और लकवा हो जाता है |

अगर ये गंभीर रूप ले ले तो ना सिर्फ ग्रसित व्यक्ति जीवन भर विकलांग हो जाता है बल्कि ये उसकी मृत्यु का कारण भी बन सकता है। 

ये मुख्य्तः युवाओं को अपनी चपेट में लेता है। 

पोलियो से बचाव कैसे करें ? (How to Prevent Polio kya hai in Hindi)

देखिये पोलियो से बचने का साधारण सा तरीका है

– अपने बच्चों को पोलियो टिक्का जरूर लगवाएं
– अपनी सेहत का ध्यान दें
– खाने पीने में हैल्थी चीज़ें खाएं
– अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाएं
– खुले में मल मूत्र करने से बचें

बाकि इसका अभी और कोई इलाज नहीं है। पर हाँ हम लकी हैं की हमारे पास इसका टिक्का है जिस से इसे होने से रोका जा सकता है।

पोलियो वैक्सीन का आविष्कार किसने किया था?

पोलियो के टिक्के  का अविष्कार सबसे पहले 1952 में हुआ था।  इस का अविष्कार “जोनास साल्क ” ने   किया था। 

 1957  में ये पूरे दुनिया में इसे पूरी दुनिया  अपनाना शुरू कर दिया था।  जिसके परिणाम स्वरूप ज्यादातारा देशो में पोलियो के मामले कम होने लगे थे।   

WHO की report की माने तो अफ्रीका को पोलियो वायरस से मुक्त किए जाने के बाद अब केवल पाकिस्तान और अफगानिस्तान ही ऐसे देश बचे हैं जहां अभी तक पोलियो वायरस मौजूद है। 

हालाँकि  इसके रोकथाम की व्यवस्था है पर तब भी पाकिस्तान और अफगानिस्तान आज भी इस वायरस से जूझ रहे हैं। 

आप को ये जान के ख़ुशी होगी की  WHO  ने 27 मार्च 2014 को भारत को पोलियो मुक्त घोषित कर दिया था। 

पर हाँ खतरा अभी भी टला नहीं है इस लिए अपने बच्चों को दो बूँद जीवन की जरूर दें। 

पोलियो वैक्सीन के प्रकार (Polio Vaccine Ke Prakar )

पोलियो की वैक्सीन बच्चों के जन्म के 1 घंटे के अंदर ही लगा दी जाती है ताकि वो इस से ग्रसित ना हों।

लगने के टाइम के आधार पर इसे दो प्रकारों में बांटा जा सकता है ।

ओपीवी (पोलियो ड्रॉप्स) (Polio Vaccine Ke Prakar )

यह जन्म के समय एक खुराक और 5 साल तक बच्चों को दी जाती है।  ये वो ही दवा होती है जिसके लिए अब आशा बहनजी घर घर भी जाती हैं ताकि एक भी बच्चा छूट न जाये  

आईपीवी (इंजेक्टेबल पोलियो वैक्सीन) (Polio Vaccine Ke Prakar )

इस को अन्य टीको के साथ दिया जाता है इस को बच्चे को  अलग अलग समय पर दिया जाता है :

 छह हफ्ते का होने पर

10 हफ्ते का होने पर

14 हफ्ते का होने पर

15 से 18 महीने के बीच

4 से 6 साल के बीच

पोलियो वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स क्या हैं (Polio Vaccine ke side effeects )

इसे पढ़ के घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि पोलियो वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स क्या हैं (Polio Vaccine ke side effeects ) बहुत ज्यादा देर तक नहीं रहते थोड़े ही टाइम तक रहते हैं

कारण हमारी बॉडी एंटीबाडीज बना रहा होता है ताकि इसके वायरस से लड़ सके .

  • उनींदापन
  • उल्टी
  • दर्द
  • इंजेक्शन स्थल पर लाल  और सूजन
  • शरीर मैं दर्द
  • कम बुखार के साथ जोड़ों का दर्द
  •  खुजली
  • पीलापन
  • चेहरे और होंठों में सूजन
  • नीली रंग की त्वचा
  • कमजोर या तीव्र पल्स
  • सूजी हुई जीभ या गला

ये भी पढ़ें

डाइबटीज को कहें अलविदा

Diabetes kya hai ? Diabetes ke lakshan kya hai ? Home remedies for diabetes

दांत दर्द में ये ट्राई करें

Dant Dard Ka Turant Ilaj दाँत दर्द से कैसे बचें ?


Source

 

उम्मीद करते हैं की पोलियो क्या है और इसके लक्षण क्या हैं ? | Polio Kya Hai aur iske lakshan kya hain आप को इस बीमारी के बारे में सभी जरूरी जानकारी दी है। आप को पास कोई सुझाव फीडबैक हमें कमेंट सेक्शन में जरूर दें।