Home स्वास्थ Pollution Fighting Foods : प्रदूषण के असर को कम करने के लिए...

Pollution Fighting Foods : प्रदूषण के असर को कम करने के लिए डाइट में शामिल करें ये सुपरफूड

Pollution Fighting Foods

 

     आज कल हमारे चारो और प्रदूषण (Pollution) ही प्रदूषण है दिल्ली, लखनऊ, मुंबई समेत देश के सभी बड़े शहरों में वायु प्रदूषण की समस्या बहुत बढ़ती जा रही है | वायु प्रदूषण के करना लोगो को कई सारि स्वास्थ्य संबंधी दिक्कते आ रही है , प्रदूषण जिस में जहरीली गैस होती है उस से सांस की तकलीफ बढ़ती जा रही है और उस से कई गंभीर बीमारिया हो रही है |

    एयर क्वालिटी इंडेक्स के आंकड़े बताते हैं कि अब दिल्ली में सांस लेने लायक हवा नहीं है |  दिल्ली के वातावरण में  जहरीली हवा फेफड़े, दिल और शारीरिक के अंगों पर बहुत बुरा असर डाल रही है | इस से कई सारि बीमारीया हो सकती है जैसे की एलर्जी, फेफड़े में संक्रमण (Lungs Infection), क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (COPD) (chronic obstructive pulmonary disease) आदि बीमारियां हो सकती है | अगर आप प्रदूषण से होने वाली समस्याओं और रोगों से बचाव चाहते हैं तो अपनी डाइट में कुछ सुपर फूड( Pollution Fighting Foods) को शामिल करे | 

आइए जानते है वो कौन से सुपरफूड है जो प्रदूषण(Pollution) के असर को कम करने के लिए आप की डाइट में शामिल होने चाहिए | (Pollution Fighting Foods)

आंवला

    आंवला में विटामिन सी की प्रचुर मात्रा  मौजूद होती है | जो हवा में मौजूद हानिकारक पदार्थों होते है उस के कारण सेलुलर डैमेज होने लगता है | आंवला इस डैमेज को रोकता ही इसलिए आप को आंवला खाना चाहिए,  अगर वायु प्रदूषण के प्रभाव को कम करना चाहते है तो आप को अपनी डाइट में रोजा आंवला  शामिल करना चाहिए | 

 

हल्दी

     आयुर्वेद में हल्दी का बहुत ही अधिक महत्व है , हल्दी हमारे शरीर के लिए बहुत ही अधिक महत्पूर्ण होती है | हल्दी हमारे शरीर से विषाक्त तत्वों को बाहर निकालने में मदद करती है |

     जब किसी को दर्द या चोट लगती है तो हम हल्दी का सेवन करते है ,हल्दी ब्लड प्यूरीफाई करने में भी  मदद करती है, हल्दी में करक्यूमिन पाया जाता है ,जो प्रदूषण के गंभीर असर को कम करता है | प्रदूषण के कारण फेफड़ों में इंफेक्शन हो जाता है ,जिससे बचने के लिए आप को रोजा अपनी डाइट में हल्दी को शामिल करना चाहिए | 


ये भी पढ़े

नींबू की चाय के फायदे

व्हाइट टी क्या है ? यह चाय इतनी महंगी क्यों होती है?

अंडा खाने के फायदे और नुकसान


हरी पत्तेदार सब्जियां

     पत्तेदार सब्जियों हर तरह से ही फादेमंद होती है ,डॉक्टर भी  हरी पत्तेदार सब्जियों को खाने की सलहा देता है | हरी पत्तेदार सब्जियों में एंटीऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते हैं, जो इन्फ्लेमेशन को नियंत्रित में रखने में बहुत महत्वपूर्ण होते है | हरी पत्तेदार सब्जियों में पालक, केल, पत्ता गोभी,ब्रोकोली, सरसों का साग ,मेथी, चौलाई का साग आदि में बहुत सारा बीटा कैरोटीन पाया जाता है और शरीर में विटामिन ए की कमी पूरी होती है | इसलिय आप को हरी पत्तेदार सब्जियां अपने खाने में शामिल करनी चाहिए | 

तुलसी

तुलसी एक ऐसा पौध है जिस में बहुत सारे औषधीय गुण भरे हुए है , जो हमारी सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद होती है | तुलसी का उपयोग हम फेफड़ों के संक्रमण और कमज़ोरी के इलाज के लिए भी करते है, तुलसी धूम्रपान के कारण होने वाले नुकसान को भी ठीक करने में मदद करती है | तुलसी की चाय और काढ़ा बना कर पीने से बहुत फायद होता है |

लहसुन

लहसुन में बहुत मात्रा में सल्फर होता है ,इस में सल्फर पाए जाता है जो शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करता है | यह फेफड़ों और लिवर में मौजूद टॉक्सिन और वायु प्रदूषण के हानिकारक असर सेबचता है | यह शरीर में पाए जाने वाले विषाक्त तत्वों को बाहर निकालने में मदद करता है | आप रोज सुबह 4-5 लहसुन की कली खा लें या फिर घी में हल्का सा फ्राई करके सेंधा नमक के साथ खा ले |

ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरपूर फूड्स

आप को अपने शरीर को ठीक रखने के लिए ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरपूर फूड्स खाने चाहिए क्यों की ये आप के दिल को स्वस्थ बनाने में मदद करते है | आप अपनी डाइट में मेथी के बीच, सरसो के बीज, नट्स, अखरोट, चिया के बीज, अलसी के बीज दही में डालकरखा सकते है | प्रदूषण के हानिकारक प्रभावों को कम करता है |

अदरक

अदरक को बहुत पहले से ही खांसी और सर्दी के लक्षणों को दूर करने के लिया उपयोगी मना जाता है | अदरक सर्दी ज़ुकाम ठीक करने के साथ फेफड़ों को भी मजबूत बनता है | अदरक म्यूकस को तोड़ने में मदद करता है जिससे सांस लेना आसान हो जाता है, यह फेफड़ों में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने और फेफड़ों की सूजन को कम करने में भी बहुत मदद करता है | अदरक का चाय और काढ़ा बन कर आप पी सकते है |

गिलोय

गिलोय एक ऐसा पौध है जिस में कई सारि मेडिकल प्रॉपर्टीज पाई जाती है | कोरोना के समय में सब से ज्यादा गिलोय पीने की सलाह दी गई थी | गिलोय हमारी इम्युनिटी को मजबूत करती है ,और हम को कई तरह की बीमारियों से बचाने में मदद करती है | गिलोय में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज पाई जाती है ,यह आप को प्रदूषण से बचाती हैं | आप खुद को सर्दी जुकाम, बुखार या तमाम तरह की बीमारियों से बचाना चाहते हैं तो रोजाना थोड़ी सी गिलोय का काढ़ा बनाकर पिए ये आप के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है |

अजवाइन

अजवाइन आप के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छी होती है यह आप के पाचन में सुधार करती है, गैस को बाहर निकालने में मदद करती है,और गैस बनने से भी रोकती है | एंटीऑक्सिडेंट ,फाइबर , विटामिन और खनिजों में समृद्ध अजवाइन जीवाणुरोधी प्रक्रिया को बढ़ावा देने में मदद करती है | अजवाइन फेफड़ों में वायु के प्रवाह में सुधार करती है | इसका एंटी-कफिंग गुणा कफ कोल्ड से भी छुटकारा दिलाता है | अजवाइन को आटे में गूथ कर आप रोटी या पराठे बना कर खा सकते है | इसे आप पानी के साथ उबालकर चाय की तरह भी पी सकते हैं |

त्रिफला

त्रिफला आयुर्वेद के अनुसार तीन मुख्य हर्ब्स का मिश्रण होता है | त्रिफला को रोज खाने से यह शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत करता है , और प्रदूषण के प्रभाव से होने वाले नुकसान को भी कम करता है | त्रिफला पाउडर का इस्तेमाल आप रात को सोने से पहले गुनगुने पानी के साथ कर सकता है | इसे को शहद के साथ भी खा सकते है ये शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है |

निष्कर्ष

इस Article के ज़रिये हमने आपको ये बाटने की कोशिश की है की आप को आज कल प्रदूषण के करना होने वाली बीमारियों से कैसे बचना है और क्या खाना डाइट में शामिल करना चाहिए | प्रदूषण के असर को कम करने के लिए डाइट में शामिल करें ये सुपरफूड ( Pollution Fighting Foods )

आप को अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने doctor से परामर्श करना चाहिए |
मैं आशा करती हूँ कि आपको मेरा यह Article पसंद आया होगा | यदि यह Article आपको Helpful लगा हो तो आप इस आर्टिकल को शेयर जरूर कीजिये | इसके अलावा यदि आपको कोई बात समझ न आयी हो तो आप नीचे Comment भी कर सकते हो |