Home खबर Hafte ki khabar (weekly wrap up 12 to 18 July )

Hafte ki khabar (weekly wrap up 12 to 18 July )

hafte ki khabar
लाइफ तो चलती रहती है और लाइफ में चलने के लिए बहुत ज़रूरी है की आप (daily) रोजमर्रा के या Poore Hafte ki khabar (weekly wrap up)  से अवगत (aware ) रहें।

फायदे Benefits

आप खुद को समाज से जुड़ा हुआ महसूस करते हैं, और साथ ही अगर आप चार लोगों में उठते बैठते हैं तो आप के पास टॉपिक होते हैं बोलने के लिए। अगर आप कहीं जायेंगे तो बहुत से लोग मिलेंगे जो राजनीती में रूचि रखते होंगे और बहुत से लोग होंगे जो खेल में रूचि रखते होंगे।

स्वामी में हम ना सिर्फ आप को मोटीवेट करते हैं बल्कि समाज को आइना भी दिखाते हैं, जैसे आपने एक टॉपिक पढ़ा होगा ज़िंदा आदमी राख का मरा आदमी लाख का जहाँ हमने समाज के उस चेहरे को दिखाने की कोशिश की थी की हम ज़िंदा आदमी की तो कदर नहीं करते पर मरने के बाद बहुत आडंबर करते हैं।

अब तक तो आप समझ ही गए होंगे की आखिर poore Hafte ki khabar (weekly wrap up 12 to 18 July ) आप के लिए किन जरुरी है।

तो चलिए हम, आप को बताते हैं इस इस Hafte ki khabar (weekly wrap up 12 to 18 July )। आप कमेंट में बताइये की और कौन सी “बड़ी khabar ” थी । साथ ही अपने दोस्तों को भी बताइये की इस हफ्ते हुआ क्या क्या  ? साथ ही सब के साथ साझा कीजिये Hafte ki khabar (weekly wrap up 12 to 18 July ) ।

शुरू करते हैं Poore Hafte ki khabar में  से सबसे बड़ी khabar  से :-

‘Police’ को काम पे लगा के सरकार बचानी है, गहलोत सरकार की ना जाने ये कौन सी नदानी है। की “शाम दाम दंड भेद” से ऊपर राजस्थान की कहानी है, जो जीत गया उसे ही तो सरकार चलानी है। सचिन ना BJP में जायेंगे ना कांग्रेस संभालेंगे, लगता है एक और केजरीवाल राजस्थान को बन के दिखाएंगे।

बाकियों का पता नहीं पर कुछों को बहुत मज़ा आएगा अगर ‘केजरीवाल और सचिन’ राजस्थान में पार्टी चलाएं।
अब चलते हैं बिहार की तरफ जहां सरकारी महकमा बहुत परेशान है एक के बाद एक कर्मचारी को कोरोना हो रहा है । khabr यह है की :-
चपड़ासी भी DM बनने के सपने सजाये है, एक के बाद एक महकमे में केस निकल के आये हैं।

पहले DM फिर ADM फिर DPRO फिर DDC जिसे भी DM बनाया उसे कोरोना निकला हम दुआ करते हैं सब जल्द से जल्द ठीक हो जाएँ।

एक तरफ कोरोना तो एक तरफ बाढ़ की तबाही है, ऐसे में एक नेता की अच्छी छवी उभर कर आयी है । खुद पानी में उत्तर कर नेता जी ने कई जानें बचाई हैं, लगता है कहीं और भी अच्छी सरकार चुन के आयी है ।

अब हमारी मीडिआ

मीडिया की भी समस्या ऊपर हो आयी है, किसे कवरेज करें ये समस्या सताये है । पाकिस्तान के हिस्से की गाली भी अब चीन ही खाये है, हर बुलेटिन में २ khabar  बस चीन से आये है । अमिताभ को कोरोना हुआ ये चिंता भी मीडिआ को सताये है, दो रिपोर्टर वहीं तैनात न्यूज़ रूम को सब बताये है।

अच्छा अब अमिताभ जी ने चादर औड़ी है पर गौर करने वाली बात ये है की उन्होंने चादर दाहिनी तरफ से ओढ़ी है हम कोशिश कर रहे हैं जानने की की आखिर क्या वजह रही होगी?

इस poore Hafte ki khabar (weekly wrap up 12 to 18 July ) में ये khabar सब से ज्यादा बार दिखयी गयी। बाद में तो अस्पताल भी मीडिया रिपोर्ट से ही कोरोना रिपोर्ट बनाने लगा होगा। सोचो आदमी को आराम चाहिए मीडिया वाले पहुंचे पड़े हैं।

अब चलते हैं थोड़ा सा गुजरात की तरफ khabar यह है की 
 

देश में कानून व्यवस्था को बढ़ाना है, कानून सब के लिए एक है ये बताना है । देश की बेटी अकेली नहीं उन्हें दिखाना है।

अब थोड़ा अपने पड़ोस में भी

अयोध्या नेपाल में है ये नेपाल के प्रधान की जुबानी है, अयोध्या तो हमारे दिल में है ये khabar उन तक पहुंचानी है।

जाने कैसे ये विचार आया होगा, जरूर ये भी चीन ने सिखाया होगा ।

बोला ना आज कल सारा क्रेडिट “चीन” को दे दिया जाता है
पर अयोध्या क्यों एक जगह की तरह है ?

यह तो एक सोच है समान अधिकार का ,सब की आज़ादी का , सम्मानता का , अच्छे आचरण का ,अच्छे राज़ का बाकि भगवान तो मन में है ध्यान से देखो वहीं दिखेंगे।

इस बात पे “कुमार विश्वास” की एक कविता याद आती है

पुरानी दोस्ती को इस नई ताकत से मत तोलो ये संबंधों की तुरपाई है षडयंत्रों से मत खोलो मेरे लहज़े की छैनी से गढ़े कुछ देवता जो कल मेरे लफ्ज़ों पे मरते थे अब कहते हैं मत बोलो

बस अब आप लोग त्यार हैं। आपने poora Hafte ki khabar (weekly wrap up 12 to 18 July ) कवर कर लिया है अब जाइये और जा के शामिल हो जाइये लोगों के बीच, और किस khabar  ने किया कितना प्रभावित ।आप हमें जरूर बताएं आप हमें ईमेल कर सकते हैं आप कमैंट्स लिख सकते है फेसबुक पर हमें ढूंढ सकते है।

बस कबूतर पे चिट्ठी बांध के मत भेजना और हाँ प्लीज इसे अपने ऊपर मत लेना।

ध्यान रखिये अपना और अपनों का सपने देखते रहिये जीवन जीते रहिये और जीवन के हर उतार चढ़ाव में स्वामी आप के साथ तो हे ही।

बस Hafte ki khabar (weekly wrap up 12 to 18 July ) को ऐसे ही पढ़ते रहिये धन्यवाद।
 
#weekly wrap up , #weekly news, # this week , # badi khabar # ye hfta #ये हफ्ता