Home ज्ञान Smart Work Aur Hard Work In Hindi

Smart Work Aur Hard Work In Hindi

Smart_Work_Hard_Work

देखिये आज दुनिया बहुत तेज़ दौड़ रही है। इस भागती दुनिया में तीन तरह के लोग दौड़ रहे हैं (१) वो जो बस भाग ही रहे हैं Hard Work ( ज्यादा ही मेहनती लोग ) करने वाले (२) वो जो बैठ के सोच रहे हैं की इसे आसान कैसे बनाएं smart work ( ज्यादा ही सोचने ) करने वाले (३) जो succesful हैं जिन्होंने दोनों का सहारा लिया है यानि smart work aur hard work |

Smart work aur hard work in Hindi

पहले एक एक कर के समझने की कोशिश करते हैं की smart work या hard work क्या है ?

Smart Work

ये शब्द आज कल ट्रेंड में है चाहे स्कूल हो या ऑफिस , जिम हो या ऑफिस हर कोई बस इतना ही बोलता है Smart Work करो स्मार्ट वर्क।

पर समझें स्मार्ट वर्क होता क्या है ?

यह एक प्रोसेस है मुश्किल काम को इजी बनाने का। जैसे पहले लोग पैदल जाते थे फिर उन्होंने जानवर पर सवार होना शुरू किया फिर धीरे धीरे गाडी बना ली। इसे कहते हैं स्मार्ट वर्क।

पहले एक काम को करने में 5 मजदूर और 5 दिन लगते थे पर अब ऐसी तकनीक आ गयी है की 3 मजदूर 4 दिन में काम कर लें। इसे कहते हैं स्मार्ट वर्क।

Smart Work किया ही समय और मेहनत बचाने के लिए किया जाता है। साथ ही Smart Work को हमेशा ओर निखारा जाता है, ताकि उसका और सही इस्तेमाल किया जा सके और समय बच सके।

चाहे वो गाडी की खोज़ हो या मशीन की किसी ना किसी की सोच और Smart Work का ही नतीजा है।

Smart Work आता कैसे है ?

स्मार्ट वर्क हमेशा ही



– Experience
– Practice
– Observatio



से आता है।

Hard Work

हार्ड वर्क एक ऐसी चीज़ है जिसमें आप को बस खुद को झोक देना होता है।  आप पुरे शरीर की ताकत लगा देते है।

जब आप एक काम शुरु करते हैं तो आप को हार्ड वर्क करना होता है।  Hard Work आप को रास्ता दिखलाता है आगे जाने का, जहाँ से आप smart work की सोच सकते हो।

तो कुल मिला के बात इतनी सी है की smart work भी वो ही कर सकता है जिसने hard work किया हो।

जैसे पहले लोगों ने पैदल चल के समझा की अगर ये जानवर हमें उठा लें तो समय और मेहनत बच जाएगी।

साथ ही अगर आप देखेंगे तो हर मशीन ऐसे बनती है जैसे वह काम किया जाता था।

तो पहले समझा जाता है की काम कैसे किया जाएगा उस के हिसाब से फिर उसमें smart work अपनाया जाता है।

Hard work aur smart work में क्या समानता है / कौन पहले आता है ?

समानता तो बस ये ही है की आप अपने गोल की तरफ पहुंच जाते हैं। बस एक में समय और मेहनत बच जाती है और एक में कुछ नहीं बचता।

अन्तः अगर मैं दोनों में समानता कहूं तो बस समानता ये है की दोनों ही आप को मंज़िल की और ले जायेंगे।

पर हाँ स्मार्ट वर्क में चांस होता है की आप फ़ैल हो जाओ मतलब जो आपने आउटकम सोचा हो वो ना हो।

आप को एक से अधिक प्रयास करने पड़ सकते हैं , पर जो निकलेगा वो गोल्डन होगा।

एक कहानी


मोहन और मोंटू एक ही कंपनी में काम करते हैं मोहन एक काम को 1० मिनट में करता है और मोंटू 3० मिनट में। जबकि दोनों ने काम शुरू किया था तो 1 घंटा लेते थे। 
अगर आप देखेंगे तो शुरुआत में काम उतना ही था पर समय ज्यादा था।

धीरे धीरे प्रैक्टिस के साथ दोनों का समय गिरा होगा तो ये जो समय गिरा है ये उनके hard work और जरूरी स्किल्स की वजह से गिरा होगा।

फिर दुबारा जब समय सिर्फ एक का ही गिरा है तो उसका मतलब है की अब वहां स्मार्ट वर्क शुरू हो गया है।

हो सकता है कम समय के लिए excel में कोई शोर्टकट लगा दिया हो , हो सकता है कोई एक स्टेप जो बहुत समय खा रहा था उसे कम किया गया हो। 

तो ऐसे जब वो तकनीक एक लगाएगा तो बाकि भी उसे सीखेंगे और धीरे धीरे उसमें और सुधार होगा।



तो क्या मोहन को अब हार्ड वर्क की जरूरत नहीं है ?

जवाब है हाँ उसे अब भी जरूरत है। एक बड़ी सही लाइन कही गयी है की

There is no shortcut for success

क्या Smart Work, Hard Work को Replace कर सकता है ?

जवाब है बिल्कुल नहीं आप smart work कर के समय तो बचा सकते हो पर सक्सेसफुल होने के लिए hard work aur smart work दोनों ही जरूरी है।

साथ ही जरूरी है experiene और निरंतरता ((काम को निरंतर कैसे करें ))।

एक कहानी


एक गांव में कुछ लकड़हारे रहते थे वो जंगल से लकड़ी काट कर लाते और उन्हें घर घर जा के बेच के अपना घर चलाते। एक टोली सुबह ही निकल जाती और काम के समय खूब काम करते। 

दुसरा गुट आराम से जाता तब भी पहले वालों से ज्यादा लकड़ी लाता। 

ऐसा देखते देखते पहले गुट वाले परेशान हो गए की चल क्या रहा है ? ये ऐसा कौन सा मंत्र पढ़ रहे हैं ?

फिर उन्होंने उन से पूछा की क्या कारण है की आप इतने समय में हम से ज्यादा लकड़ियाँ काट रहे हो ?

तो उन्होंने उतर दिया

हम घर जा के अपने औज़ार साफ करते हैं उनका ध्यान रखते हैं

जब तुम लोग खा के सो जाते हो या गप्पें मार रहे होते हो उस समय हम गप्पें मारने के अलावा अपने हथियारों को तेज़ कर रहे होते हैं। 

अन्तः कम मेनहत में भी हमें ज्यादा फल मिल जाता है। 



Smart Work aur Hard Work में क्या अंतर है



आधार Smart Work Hard Work
शुरुआत किसी भी काम की शुरुआत हमेशा उसे सिखने से होती है ऐसे में स्मार्ट वर्क करने के चांस थोड़े कम होते हैं। जब भी काम को शुरुआत होती है तो हमेशा हार्ड वर्क से ही स्मार्ट वर्क की तरफ होती है।
समय / मेहनत क्योंकि यहां आप काम को बौद्धिक और शारीरिक शक्तियों का प्रयोग कर नवनीतम विधि से करते हो।  अन्तः यहां समय और शक्ति कम लगती है। Hard Work में आप कार्य में पूरी शारीरक शक्ति लगाते हैं अन्तः इसमें समय और ताकत ज्यादा लगती है।
मास्टर जो स्मार्ट वर्क करते हैं वो हमेशा ही काम में मास्टर होते हैं। ये मास्टरी का पहला चरण होता है।
फ़ैल होने की गुंजाइस स्मार्ट वर्क में चांस होते हैं की आप कभी कभी फ़ैल हो जाएँ क्योंकि आप कुछ नया try करते हैं। वो ही पारंपरिक तरीके से काम करने पर काम गलत या फ़ैल होने के चांस कम ही होते है ।
Innovative Innovative होते हैं और Improvement आगे होती रहती है। पुराने स्कूल के पुराने रूल्स।

 



निष्कर्ष

अब हम कह सकते हैं की ये सच है Smart Work समय बचाएगा पर hard work वो है जो उस बचे समय को भी कहीं और utilise कर के दिखायेगा। तो succesful होने के लिए आप को दोनों की ही जरूरत होती है।

Success = hard work +Smart Work

दोनों होने भी इसी कर्म में चाहिए

पहले hard work fir उसमें smart work जोड़ने की त्यारी करें  (यानी काम सीखें और समझें इसे कैसे कम समय में किया जा सकता था) फिर दोनों को जोड़ के रखें और ऐसे ही चलते रहें और आगे बढ़ते रहें।

उम्मीद करता हूँ की आप को smart work aur hard work in Hindi से दोनों का फर्क समझ आ गया होगा। साथ ही ये भी पढ़ें।

प्लानिंग कैसे करें
काम को पूरा कैसे करें
अपना ध्यान कैसे रखें

Smart Work Aur Hard Work In Hindi में आज के लिए इतना ही फिर भी कुछ सवाल हों तो एक बार कमेंट सेक्शन में जरूर पूछें।