Home ज्ञान World Heritage Day 2022: विश्व धरोहर दिवस का इतिहास, महत्व एवं इससे...

World Heritage Day 2022: विश्व धरोहर दिवस का इतिहास, महत्व एवं इससे जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां

World Heritage Day 2022: इसे International Day for Monuments and Sites (IDMS) भी कहा जाता है।

यूनेस्को द्वारा World Heritage Day हर साल 18 अप्रैल को मनाया जाता है।

इसका मुख्य प्रयोजन है विश्व के सांस्कृतिक वा ऐतिहासिक स्थलों को संभाल के रखना। ताकि हमारी आने वाली पीढ़ियां भी इन महत्वपूर्ण ऐतिहासिक और प्राकृतिक धरोहरों को देख सके।

वरना आप को तो पता ही है जिस हिसाब से चीज़ें खराब, गायब टूट रही हैं हमारी आने वाली पीढ़ी तो बस शायद उन्हें सोशल मीडिया पे ही देख सके।

ऐसे में यूनेस्को का ये प्रयास काफी अच्छा है व हम सब को इसमें अपनी अपनी भागीदारी निभानी चाहिए।

ये भी पढ़ें

ये 10 लक्षण आप को बता सकते हैं की कहीं आप का लीवर खराब तो नहीं ?
नारियल पानी के फायदे
रक्षाबंधन है तो फिर सिब्लिंग डे क्यों मनाया जाता है ?
कैंसर

World Heritage Day history: वर्ल्ड हेरिटेज डे का इतिहास/ विश्व धरोहर दिवस का इतिहास

बढ़ती जनसंख्या प्रदूषण और हो रहे बदलवों को देख कर साल 1982 में, ICOMOS (अंतर्राष्ट्रीय परिषद और स्मारक और स्थल) ने हमारी संस्कृति, विरासत और इतिहास को बचाने व लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए एक दिन का सुझाव दिया।

जिसे साल 1983 में यूनेस्को द्वारा 22 वें सामान्य सम्मेलन के दौरान हरी झंडी दिखाई गयी। दिन तय हुआ आज का यानी 18 अप्रैल।

World Heritage Day kyn jruri hai (वर्ल्ड हेरिटेज क्यों मनाया जाता है )

  • अंतरास्ट्रीय स्तर पर ऐतिहासिक संस्कारों को पुनर्जीवित करना
  • लोगों को अपने इतिहास वा ऐतिहासिक स्थलों के प्रति जागरूकता बढ़ाना
  • पिछड़ी वा प्राचीन जनजातियां को बचाये रखना

World Heritage Day ka mahatv: विश्व धरोहर दिवस (वर्ल्ड हेरिटेज डे) का महत्व

हमारा इतिहास हमारे लिए बहुत जी ज्यादा जरूरी है क्योंकी हम बहुत सी चीज़ें अपने पास्ट वा इतिहास से ही समझते हैं।

साथ ही हमारे पूर्वज कैसे थे वा कितने पराक्रमी थे कहीं ना कहीं ये बात हमारी छाती को चौड़ा कर देती है। इन सब को जानने में ये ऐतहासिक स्थल हमारी मदद करते हैं।

हम अगर भारत की बात करें तो जब आप महारणा की गाथा सुनते हैं सम्राट पृथ्वी राज चौहान की कहानियाँ सुनते है तो आप को प्राउड की फीलिंग आती है पर जब आप हल्दी घाटी या ऐसे ही किसी स्थल पर जाते हैं तो ऐसा लगता है इतिहास हमारे सामने है।

ऐसे में आप समझ ही सकते हैं इन हेरिटेज स्थलों को संभाल के रखना कितना जरूरी है।

भारत की तरह ही हर देश के पास अपने-अपने अतीत की कोई ना कोई कहानी होती ही है जो कि इतिहास के पन्नों पर दर्ज है और ये इतिहास बनता वा याद रहता है ऐसे ही ऐतिहासिक स्थलों से जो अपनी गाथाएं खुद सुनते हैं।

इस लिए इन्हें संभाल के रखना बहुत ही ज्यादा जरूरी हो जाता है।

World heritage day 2022 ki theme विश्व विरासत दिवस 2022 का थीम

किसी भी फंक्शन या प्रोग्राम में नया पन लाने के लिए वा उसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के लिए उसे एक थीम दी जाती है।

इसी तरह हर साल World heritage day की भी एक थीम रखी जाती है 2022 में यह है

“विरासत और जलवायु”( ‘Heritage and Climate’)

World Heritage Day Quotes in Hindi (विश्व विरासत दिवस कोट्स )

“Maintaining one’s culture, values and traditions is beyond price. “– Getano Lui, jnr

“World heritage day aims to identify the beauty of monuments and preserves their identity from the roots”.

“Love your monuments, they are part of a rich civilization and speak volumes about a bygone era”.

“There is no greater wealth than wisdom, no greater poverty than ignorance; no greater heritage than culture and no greater support than consultaion” –Ali Ibn Abu Talib

“My culture is my identity and personality. It gives me spiritual, intellectual and emotional distinction from others, and I am proud of it” – M.F. Moonzajer

“Tourism carries tremendous potential that must be acknowledged as essential for the futures of world heritage. But without proper management, we can easily get out of control.” – Bonnie Burnham

“Culture is a way of thinking, a set of values, a belief system that influences our behaviour. It’s really a combination of things. It can come from our ethnic background, our religion and society as a whole.” – Frank Olivas

भारत के कौन कौन से स्थल इस लिस्ट में हैं ? List of World Heritage Sites in India

दुनिया के कुल 1052 Heritage सेंटर हैं। इनमें से 814 सांस्कृति, 203 प्राकृतिक और 35 मिश्रित हैं।

अगर भारत की बात की जाये तो भारत में विश्व धरोहर की संख्या 35 हैं जिसमे 27 सांस्कृतिक, 7 प्राकृतिक और 1 मिश्रित है।

आगरा का किला (1983)
अजंता की गुफाएं (1983)
एलिफेंटा की गुफाएं (1987)
एलोरा की गुफाएं (1983)
लाल किला परिसर (2007)
खजुराहो में स्मारकों का समूह (1986)
सुंदरबन राष्ट्रीय उद्यान (1987)
काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान (1985)
नालंदा महाविहार (नालंदा विश्वविद्यालय), बिहार (2016)
केओलादेओ नेशनल पार्क (1985)
सांची बौद्ध स्मारक (1989)
बोध गया में महाबोधि मंदिर परिसर (2002)
छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (पूर्व में विक्टोरिया टर्मिनस) (2004)
गोवा के चर्च और कॉन्वेंट्स (1986)
रानी-की-वाव पाटन, गुजरात (2014)
भीमबेटका के रॉक शेल्टर (2003)
सूर्य मंदिर, कोर्णाक (1984)
ताज महल (1983)
ला कॉर्ब्युएर का वास्तुकला कार्य (2016)
जंतर मंतर, जयपुर (2010)
हिमालयी राष्ट्रीय उद्यान संरक्षण क्षेत्र (2014)
मानस वन्यजीव अभयारण्य (1985)
पश्चिमी घाट (2012)
हम्पी में स्मारकों का समूह (1986)
महाबलिपुरम में स्मारक समूह (1984)
कुतुब मीनार और इसके स्मारक, दिल्ली (1993)
ग्रेट लिविंग चोल मंदिर (1987)
पट्टडकल में स्मारक समूह (1987)
राजस्थान में पहाड़ी किला (2013)
फतेहपुर सीकरी (1986)
माउंटेन रेलवे ऑफ इंडिया (1999)
हुमायूं का मकबरा, दिल्ली (1993)
कंचनजुंगा राष्ट्रीय उद्यान (2016)
चंपानेर-पावागढ़ पुरातात्विक पार्क (2004)
नंदा देवी और फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान (1988)

बाकि आप बताएं आप कौन कौन सी जगह घूम चुके हैं और साथ ही World Heritage Day 2022 पे आप कहाँ जाना पसंद करेंगे।